किसानों के रेल रोको आंदोलन ने ट्रैक से उतारी जिंदगी, 200 से अधिक ट्रेनों पर असर


नई दिल्ली (मानवी मीडिया)-किसानों के रेल रोको आंदोलन के कारण उत्तर भारत में दो सौ से अधिक ट्रेनें प्रभावित हुईं जिनमें से लगभग 40 गाड़ियों को रद्द करना पड़ा। रेलवे बोर्ड के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार दो सौ से अधिक गाड़ियों के परिचालन पर किसानों के आंदोलन के कारण असर पड़ा है। करीब 40 गाड़ियों को रद्द करना पड़ा। तमाम गाड़ियों को आंशिक रूप से रद्द किया गया और कुछ को परिवर्तित मार्ग से चलाया गया। शाम करीब साढ़े पांच बजे तक स्थिति सामान्य हो पाई। उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार के अनुसार उत्तर रेलवे में करीब 150 स्थानों पर आंदोलन के कारण रेल यातायात बाधित हुआ।
सर्वाधिक 23 ट्रेनें दिल्ली मंडल में, 19 गाड़ियां फिरोजपुर मंडल में, 16 गाड़ियां मुरादाबाद मंडल में तथा 12 ट्रेनें अंबाला मंडल में प्रभावित हुईं। इनमें दिल्ली एवं कालका तथा दिल्ली एवं अमृतसर के बीच चलने वाली दोनों दिशाओं की शताब्दी एक्सप्रेस गाड़ियां और दिल्ली से श्रीमाता वैष्णो देवी कटरा को जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस भी शामिल थीं। रिपोर्टों के अनुसार गाजियाबाद के मोदीनगर में किसानों ने एक मालगाड़ी रोक कर प्रदर्शन किया। उत्तर-पश्चिम रेलवे के एक प्रवक्ता के अनुसार भिवानी-रेवाड़ी, सिरसा-बठिंडा, सिरसा-बठिंडा, हनुमानगढ़-सादुलपुर, हिसार-बठिंडा, हनुमानगढ़-सादुलपुर तथा श्रीगंगानगर-रेवाड़ी रेलखंडों पर रेल यातायात प्रभावित हुआ।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक