उ0प्र0: लड़की को बहला-फुसलाकर पति के साथ दुष्कर्म करवाने वाली महिला गिरफ्तार


लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के लखनऊ से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक महिला को 19 वर्षीय लड़की को घर में फुसला कर लाने, बंधक बनाने और पति को उसके साथ दुष्कर्म करने की अनुमति देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। लड़की को पीटा भी गया और उसकी जीभ काट दी गई ताकि वह घटना का खुलासा न कर सके। पुलिस रिपोर्ट्स के मुताबिक, 40 वर्षीय आरोपी महिला पहले लड़की को गाजीपुर थाना क्षेत्र के इंदिरा नगर स्थित अपने घर में फुसला कर ले गई, जहां उसने उसे बांध दिया जिसके बाद उसके 45 वर्षीय पति ने सात दिनों में कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया।

अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (एडीसीपी), उत्तर, प्राची सिंह ने कहा, "दंपति ने यह सोचकर लड़की की जीभ काट दी कि वह बोल न सकें और किसी को अपनी पीड़ा के बारे में नहीं बता सके। किसी तरह, लड़की दोनों पति-पत्नी के चंगुल से भाग निकली। जब उसके घाव भरने लगे, तो उसने अपने परिवार को इशारों से अपनी पीड़ा के बारे में बताया और मामला दर्ज किया गया।" "दूसरे इलाके की एक 19 वर्षीय लड़की रास्ता भटक गई और आरोपी आरती से मिली थी, जो उसे 21 सितंबर को अपने घर ले गई थी।"

गाजीपुर के थाना प्रभारी अनिल सिंह ने कहा कि लड़की के साथ दुष्कर्म किया गया। उसे बुरी तरह पीटा और प्रताड़ित किया और अप्राकृतिक यौन संबंध बनाए गए और उसकी जीभ भी काट दी गई। लड़की के पिता ने पुलिस को सूचना दी और शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी महिला आरती को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया, जबकि उसका पति जीतू सोनी फरार है। पुलिस ने आरती और जीतू के खिलाफ दुष्कर्म, गंभीर चोट, गलत तरीके से बंधक बनाने, शादी के लिए मजबूर करने के लिए महिला के अपहरण और आईपीसी की अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि वे महिला को रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ करेंगे कि उसने लड़की के साथ इतनी क्रूरता क्यों की? एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि पीड़िता और आरोपी दोनों समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से हैं।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र