पिछली सरकारों ने पिछडा वर्ग के लोगों की जमकर उपेक्षा की : डा दिनेश शर्मा

भाजपा सरकार ने महाराजा सुहेलदेव के नाम पर डाक टिकट किया जारी 

वसूली और फिरौती  मांगने वाले मांग रहे हैं  माफी 

आज अपराधी कांप रहा है और जनता चैन की नींद सो रही

पिछली सरकारों में बिजली बन गई थी वोट लेने का हथियार 

लखनऊ/  गाजीपुर। (मानवी मीडिया) उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि  पिछली सरकारों ने  पिछडा वर्ग के लोगों की जमकर उपेक्षा की थी।  मोदी सरकार ने पिछडा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर उन्हे सशक्त बनाने का काम किया है। यह एक क्रान्तिकारी कदम है। वर्तमान सरकार में हर वर्ग के महापुरुषों को सम्मान दिया जा रहा है। जाति के बंधन तोडे जा रहे हैं। ऐसे महापुरुष जिन्होंने सामाजिक व्यवस्था को नया आयाम दिया, पर उनके कार्यों को उचित पहचान व सम्मान नहीं दिया गया,उन्हें आज पूरा सम्मान दिया जा रहा है। महाराजा सुहेलदेव  के नाम पर भी पहली बार डाक टिकट प्रधानमंत्री मोदी ने जारी किया तथा उनके स्मारक के लिए 56 करोड रुपए भी दिए गए । यह काम पहले भी हो सकता था पर नहीं हुआ । पिछली सरकारों ने अति पिछडों के कल्याण की चिन्ता ही नहीं की पर आज वे फिर इन्हे बांट का अंग्रेजो की तरह ही राज करना चाहते हैं। समाज के इस वर्ग ने आपस में बांटने वाले अंग्रेजो का भी सामना किया था और  आज फिर ऐसे आपस में मतभेद पैदा करने वाले तत्वों का सामना करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में अपराध उद्योग बन गया था  । वर्तमान सरकार के कठोर रवैये के चलते वे लोग  जो पिछली सरकारों में वसूली फिरौती मांगते थे वे आज तख्ती लगाकर माफी मांग रहे हैं ।  योगी बाबा माफ करो का जाप कर रहे हैं। सरकार ने सूबे में कानून का राज स्थापित किया है। आज अपराधी कांप रहा है और जनता चैन की नींद सो रही है।  गाजीपुर में आयोजित विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि  योगी सरकार के आने के पहले स्थिति यह थी कि महिलाओं को नित्यकर्म  से निवृत होने के लिए अंधेरा होने का इंतजार करना पडता था। मोदी व  योगी सरकार ने महिलाओं के सम्मान और गरिमा के लिए गांव गांव हर घर शौचालय का निर्माण कराया है। यही वह बदलाव है जो भाजपा सरकार लेकर आई है। बदलाव की कडी में एक और काम ऐसा है जिसने महिलाओं  के स्वास्थ्य  को बेहतर बनाया है। पहले माताएं बहने धुए में खाना पकाने को मजबूर होती थीं  पर वर्तमान सरकार ने घर घर गैस का नि:शुल्क कनेक्शन देकर महिलाओं के स्वास्थ्य को सुरक्षित किया है। सरकार के काम महिलाओं, बच्चों,किसान ,नौजवान सभी के जीवन में परिवर्तन ला रहे हैं। पहले की सरकारों में हाल यह था कि गांव में  बिजली आती नहीं थी और अगर आ भी जाए तो कनेक्शन लेने के लिए इतने चक्कर लगवा दिए जाते थे कि आदमी थक कर बैठ जाता था। विरोधी दलों के लोग बिजली लगवाने के नाम पर ही  वोट लेकर चुनाव में जीत हासिल कर जनता को ठगने का काम करते थे। आज गांव में न केवल भरपूर बिजली आ रही है बल्कि कनेक्शन के लिए भी सरकारी दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पडते हैं। अधिकारी जनता के घर जाकर कनेक्शन दे रहे हैं। यह बदले हुए यूपी की तस्वीर है। सरकार की हर योजना लोगों के जीवन को बेहतर बना रही है। योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार का भेदभाव नहीं है।उन्होंने विश्वविद्यालय एवं प्रयागराज बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की अंक सुधार परीक्षा की  समीक्षा करते हुए कहा कि परीक्षाएं पूरी तरह से नकलविहीन होनी चाहिए। सभी व्यवस्थाएं चाक चौबन्द रहे । उन्होंने संस्कृत विद्यालयों में संस्कृत पठन-पाठन के लिए उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उच्च शिक्षा तथा माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में उन्होंने  सत्र नियमितीकरण ,  बोर्ड की आगामी परीक्षाओं की तैयारी तथा आफ लाइन शिक्षण व्यवस्थाओं के बारे में निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकाल का हर हाल में पालन कराया जाना चाहिए। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि अभी तक केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ जनता को तेजी से मिला है। ऐसी सरकारी योजनाएं जिनका शिलान्यास हो चुका है उनको जल्द पूरा कराया जाए जिससे उनका शीघ्र लोकार्पण हो व जनता को उनका भी लाभ मिल सके। सभा में प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री श्री अनिल राजभर सांसद श्री वीरेंद्र सिंह मस्त विधायक सुनीता सिंह अलका राय विशाल सिंह चंचल गाजीपुर के जिला अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह राजेश राजभर गुड्डू राजभर जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह राजभर समाज के अन्य वरिष्ठ नेता उपस्थित थे बाद में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं जनप्रतिनिधियों वाह अधिकारियों के साथ अलग से बैठक करके जिले के विकास कार्यों की समीक्षा की । 

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र