नोएडा सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट मामले में योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, तुरन्त प्रबंधक मुकेश गोयल निलंबित


नोएडा (मानवी मीडिया) : सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट मामले में कार्रवाई शुरू हो गई है। इस मामले में बिल्डर और नोएडा विकास प्राधिकरण के अफसरों की मिलीभगत बेपर्दा होना शुरू हो गई है। अथॉरिटी के प्लानिंग विभाग में तत्कालीन प्रबंधक मुकेश गोयल को निलंबित किया गया है। इस मामले में नोएडा अथॉरिटी की तरफ से रिपोर्ट भेजी गई थी। सुप्रीम कोर्ट से मिले 40 मंजिला ट्विन टॉवर्स गिराए जाने के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ भी मामले पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए थे। सीएम ने न्यू ओखला इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी के अधिकारियों को रिपोर्ट दाखिल करने के निर्देश दिए थे

बुधवार को सीएम आदित्यनाथ ने अधिकारियों के साथ बैठक की थी। उन्होंने कहा था कि भवनों के निर्माण की अनुमति देने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के मुताबिक, सीएम ने कहा था, ‘नोएडा के सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट केस में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इस मामले में अनियमितताएं 2004 से चली आ रही हैं। मामले में दोषी एक-एक अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अगर जरूरी हुआ, तो आपराधिक मामले भी दर्ज किए जाने चाहिए। इस मामले में तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए।’

अतिरिक्त मुख्य सचिव (सूचना) नवनीत सहगल ने कहा कि नोएडा के अधिकारियों से जल्द से जल्द रिपोर्ट मांगी गई है। उन्होंने कहा था, ‘शामिल अधिकारियों की विस्तृत रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। रिपोर्ट के आधार पर आपराधिक कार्रवाई भी शुरू की जाएगी और इस पूरे मामले की जांच के लिए एक कमेटी गठित कर दी गई है।’

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने नोए़डा में सुपरटेक लिमिटेड ग्रुप के ट्विन टॉवर्स को गिराने के निर्देश दिए थे। इसमें करीब 850 फ्लैट्स है। जांच में पता चला था कि निर्माण में भवनों के बीच की दूरी और अग्नि संबंधित नियमों का उल्लंघन किया गया था। कोर्ट ने यह भी काह कि टॉवर का निर्माण नोएडा के अधिकारियों और समूह के बीच ‘मिलिभगत’ के जरिए हुआ था। साथ ही अदालत ने इनके खिलाफ मुकदमा चलाने की भी अनुमति दी है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र