अफगानिस्तान का नया झंडा, राष्ट्रगान को भी बदलेगा तालिबान


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): पूरे अफगानिस्तान पर अब तालिबान का कब्जा है। देश में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। सत्ता में आने के बाद तालिबान कई चीजें बदलने जा रहा है। इसमें अफगानिस्तान के लिए नया झंडा और नया राष्ट्रगान भी शामिल है। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने सोमवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि अगली सरकार अफगानिस्तान के झंडे और राष्ट्रगान पर फैसला करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि तालिबान प्रशासन सरकारी कर्मचारियों को वेतन भी देगा। इस बीच, तालिबान के सह-संस्थापक मुल्ला बरादर को अफगानिस्तान में तालिबान सरकार के नेता के रूप में बताए जाने की खबरों के बीच, जबीहुल्ला ने कहा कि मुल्ला हिबातुल्लाह अखुंदजादा जीवित है और जल्द ही सार्वजनिक रूप से सामने आएगा। 

अंतर्राष्ट्रीय :अफगानिस्तान में युद्ध खत्म हुआ, जल्द होगा नयी सरकार का गठन: तालिबानतालिबान के साथ शांति वार्ता के लिए तैयार : रेसिस्टेंस फ्रंट के नेता  दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जुमा को मिली मेडिकल पैरोल पंजशीर की धरती पर तालिबान ने किया कब्जे का दावा, NRF ने नकारा, कहा- हमारे लड़ाके हर कोने में मौजूदUS: फ्लोरिडा में बंदूकधारी ने बरसाईं अंधाधुंध गोलियां, बच्ची सहित 4 लोगों की मौतविरोध का आखिरी किला ढहा: पंजशीर की धरती पर तालिबान ने लहराया अपना झंडा, NRF के चीफ कमांडर की भी मौत

तालिबान ने सोमवार को कहा कि उन्होंने काबुल के उत्तर में स्थित पंजशीर प्रांत पर कब्जा कर लिया है। पंजशीर जो कि तालिबान विरोधी ताकतों का अंतिम ठिकाना है। पंजशीर घाटी में तालिबान के साथ संघर्ष में नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स के प्रवक्ता फहीम दशती की मौत की खबरों के बीच, तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि वह कमांडर गुल हैदर और जनरल जिरात के बीच एक आंतरिक विवाद में मारा गया। इससे पहले, एनआरएफ और उसके नेता अहमद मसूद ने फहीम दशती के निधन की बात स्वीकारी थी, जो पंजशीर प्रतिरोध के प्रमुख चेहरों में से एक थे।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र