दारा सिंह चौहान ने जैवविविधिता दिवस- पर आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेताओं को किया पुरस्कृत

प्रदेश में जनमानस की सहभागिता से एक दिन में 25 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य प्राप्त किया जा सका

प्रदेश को हरा-भरा बनाने के लिए युवाओं को वृक्षारोपण कार्यक्रम में सक्रिय रुप से जोड़ने की आवश्यकता

पेड़ मेरा साथी वीडियो प्रतियोगिता में गोरखपुर के

डा0 विनय शंकर को प्रथम मिला पुरस्कार

मेरा घर मेरा बगीचा फोटो प्रतियोगिता में लखनऊ की रिचा दीक्षित प्रथम

मेरा शहर हरा भरा फोटो प्रतियोगिता में  धरम सुतानविन को प्रथम

लखनऊः (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के पर्यावरण, वन एवं जंतु उद्यान मंत्री  दारा सिंह चौहान ने वृक्षारोपण जन आन्दोलन-2021 प्रतियोगिता एवं अंतर्राष्ट्रीय जैवविविधिता दिवस-2021 के अवसर पर प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया।

     इस अवसर पर  चौहान प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा ‘‘एक व्यक्ति एक वृक्ष’’ का संकल्प लिया गया था, जिसमें प्रदेश में जनमानस की सहभागिता से एक दिन में 25 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य प्राप्त किया जा सका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को हरा-भरा बनाने के लिए बच्चों में पर्यावरण संरक्षण का संस्कार विकसित करने और युवाओं को वृक्षारोपण कार्यक्रम में सक्रिय रुप से जोड़ने आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2022-23 हेतु पौधरोपण का निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने हेतु अभी से तैयारियां शुरू कर दी जाये।

कार्यक्रम में मेरा पेड़ मेरा साथी (वीडियो) प्रतियोगिता में गोरखपुर के डॉक्टर विनय शंकर को प्रथम, झांसी के गौरव गर्ग को द्वितीय, वाराणसी की श्रृष्टि सिंह को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। इसी प्रकार मेरा घर मेरा बगीचा (फोटो) प्रतियोगिता में लखनऊ की रिचा दीक्षित को प्रथम, झांसी की नीतू रविकुल को द्वितीय, आगरा की अनीता अग्रवाल तृतीय स्थान पर रही। इनके अतिरिक्त मेरा शहर हरा भरा (फोटो) प्रतियोगिता में  धरम सुतानविन को प्रथम, लखनऊ की काव्या शुक्ला को द्वितीय, आगरा के डॉक्टर नरेंद्र मल्होत्रा को तृतीय पुरस्कार मिला। साथ ही मेरा पेड़ मेरा साथी (सेल्फी) प्रतियोगिता में अलीगढ़ के प्रकाश सक्सेना को प्रथम, वाराणसी के महेश्वर नाथ त्रिपाठी को द्वितीय ,अलीगढ़ के अब्दुल जलील सिद्दीकी को तृतीय, मेरा पेड़ मेरा साथी (ड्राइंग) प्रतियोगिता में ललितपुर के अचल सिंह को प्रथम, मुरादाबाद के तुषार गुप्ता को द्वितीय, वाराणसी की शिवांगी कश्यप को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।

     जैवविविधता उत्सव-2021 के अंतर्गत आयोजित जैव विविधता संरक्षण में हमारी भूमिका विषय पर निबंध लेखन प्रतियोगिता में कक्षा चार से आठ वर्ग की श्रेणी में सेंट्रल अकादमी इंदिरा नगर लखनऊ की नवधा मुद्गल को प्रथम, नव्या सिंह को द्वितीय, अक्षय दयाल को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। कक्षा 9 से 12 वर्ग में सौम्य श्रीवास्तव को प्रथम, सुदीक्षा वर्मा को द्वितीय, यशर्थ राव को तृतीय पुरस्कार तथा स्नातक एवं परास्नातक वर्ग में वैभवी श्रीवास्तव को प्रथम, अनुष्का द्विवेदी को द्वितीय, लखनऊ विश्वविद्यालय की प्रज्ञा तिवारी को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। पोस्टर प्रतियोगिता में कक्षा चार से 8 वर्ग तक में आगरा पब्लिक स्कूल की सजल जैन को प्रथम, सीएमएस लखनऊ की अनुदिता श्रीवास्तव को द्वितीय, अर्पित सिंह को तृतीय पुरस्कार, स्नातक एवं परास्नातक वर्ग में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के आकाश दीप को प्रथम, राजकुमार को द्वितीय तथा लखनऊ विश्वविद्यालय की अक्षरा सक्सेना को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। इसी प्रकार कोलाज प्रतियोगिता में कक्षा 4 से 8 वर्ष वर्ग की श्रेणी में सोनाक्षी उपाध्याय को प्रथम, सीएमएस की अनुष्का सिंह को द्वितीय, सेंट्रल एकेडमी सीनियर सेकेंडरी स्कूल इंदिरा नगर की हबीबा नदीम को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। कक्षा 9 से 12 वर्ग  में आन्या गुप्ता को प्रथम, शांति पटेल को द्वितीय,  रोशनी उपाध्याय को तृतीय पुरस्कार मिला। स्नातक एवं परास्नातक वर्ग में लखनऊ विश्वविद्यालय के आसिफ जाफरी को प्रथम, सहारनपुर की रसिका वत्स को द्वितीय तथा अभिषेक रस्तोगी को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ ।इसी प्रकार स्लोगन प्रतियोगिता में कक्षा 4 से 8 वर्ग में आर्यन राजेंद्र जाधव को प्रथम पुरस्कार, कक्षा 9 से कक्षा 12 वर्ग में शक्ति सिंह को प्रथम, जान्हवी पंजवानी को द्वितीय, मानसी रंजन को तृतीय पुरस्कार, परास्नातक तथा स्नातक वर्ग में पूजा अग्रवाल को प्रथम तथा आसिफ जाफरी को द्वितीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव वन, पर्यावरण एवं जंतु उद्यान विभाग मनोज कुमार सिंह ने कहा कि प्रत्येक वर्ष इन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। इसका उद्देश्य पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी में हो रहे बदलाव से होने वाले नुकसान को दूर करना है। इसके लिए हम सभी को जागृत होना पड़ेगा तथा पर्यावरण को बचाने के लिए बड़ी संख्या में वृक्षारोपण करने की आवश्यकता है । उन्होंने कहा कि हमारा देश जैव विविधता वाला देश है । इंसानों की तरह पौधों को भी जीवित रहने का अधिकार है, इन्हें बचाना हम हम सबकी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि बीते 4 वर्षों में लगभग 100 करोड़ वृक्ष लगाए जा चुके हैं और यह सिलसिला आगे भी

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक