सीबीआई करेगी नरेंद्र गिरि केस की जांच, केस हैंडओवर लेने के लिए प्रयागराज पहुंची टीम


लखनऊ (मानवी मीडिया): अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत का केस सीबीआई को सौंपने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सीबीआई टीम के पांच सदस्य केस हैंडओवर लेने के लिए पुलिस लाइन पहुंच गए हैं। एसआईटी टीम और प्रयागराज पुलिस के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले में संत समाज के आग्रह पर सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। महंत नरेंद्र गिरि की मौत की घटना से संत समाज स्तब्ध है जिसके बाद से ही उनकी ओर से इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की जा रही थी।

मामले में बुधवार को मुख्य आरोपी आनंद गिरि को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अब तक पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरि और आद्या तिवारी को गिरफ्तार किया है। वहीं मंगलवार को प्रयागराज पुलिस ने इस मामले में एसआईटी का गठन भी किया था जिसके बाद आज बुधवार को एसआईटी ने महंत नरेंद्र गिरि की सुरक्षा में तैनात चारों गनरों से भी गहन पूछताछ की।

पुलिस को महंत नरेंद्र गिरि के शव के पास से एक सुसाइड नोट मिला था। नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि मैं दुखी होकर आत्महत्या करने जा रहा हूं। नोट में आगे लिखा था कि मेरी मौत की जिम्मेदारी आनंद गिरि, हनुमान मंदिर के पुजारी अद्या तिवारी और संदीप तिवारी की है। मेरा प्रयागराज के पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों से अनुरोध है कि मेरी मौत के जिम्मेदार उपरोक्त लोगों पर कार्रवाई की जाए, ताकि मेरी आत्मा को शांति मिल सके।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र