गृह मंत्री के कार्यालय की बेहद गुप्त जानकारी लीक करता रगें हाथों पकड़ा गया कर्मचारी, अनिल विज ने दिए सख्त कार्रवाई के आदेश


चंडीगढ़ (मानवी मीडिया): हरियाणा के होम मिनिस्टर अनिल विज के ऑफिस में एक बेहद सनसनीखेज मामला सामने आया है। कार्यालय में कार्यरत कर्मचारी बेहद ही गोपनीय फाइल लीक करता रंगे हाथों पकड़ा गया है। मामले में होम मिनिस्टर अनिल विज ने संज्ञान लिया है। उन्होंने तुरंत पुलिस को फोन किया और सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। मामला बेहद गंभीर बताया जा रहा है। क्योंकि होम मिनिस्टर कार्यालय बहुत ही गोपनीय मामले में डील करता है, ऐसे में समझना आसान है कि ये कितना गंभीर मामला है। अनिल विज ने तुरंत मामले को नोटिस में लेते हुए चंडीगढ़ पुलिस को फोन किया। मामले पर विज ने खुद कर्मचारी का फोन चेक किया। उन्होंने देखा की उनके अंडर आने वाले हर विभाग की बेहद महत्वपूर्ण फाइल की फोटो उसके मोबाइल में थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए उससे पूछताछ की।

अन्य कर्मचारियों पर भी नजर, होगी भूमिका की जांच

उक्त कर्मचारी के पकड़े जाने पर अन्य स्टाफ की भूमिका अब शक के घेरे में है। पूरे मामले को लेकर हर एंगल से मामले की जांच होगी। पुलिस को विज ने साफ कर दिया है कि सख्त कार्रवाई होनी चाहिए औऱ दोषी के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए। अब मामले में ये पहलू अहम है कि क्या इस कर्मचारी के साथ किसी अन्य कर्मचारी की भूमिका है। ऐसे में हरियाणा सचिवालय में देर शाम तक मामले की गूंज रही । नही बख्शेंगे विज, नपना तय

इस बात से हर कोई इत्तेफाक रखता है कि अनिज विज दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के पक्ष में रहते हैं। ऐसा ही इस मामले में देखने को मिला। युवक को खुद पुलिस को सुपूर्द किया जाना काफी कुछ बयां करता है। पूरे मामले से हर कोई सकते हैं। अनिल विज के अंडर होम, हेल्थ और अर्बन लोकल बॉडी समेत 7 भारी भरकम विभाग हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि ये मामला कितना गंभीर है।  मीटिंग खत्म होते ही कर्मचारी को तलब किया

विज शुक्रवार को कई विभागों के अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। विज को कहीं से अंदर की जानकारी मिली कि उक्त युवक काफी समय से विभाग की फाइलों की फोटो लेकर किसी को भेज रहा है। मीटिंग खत्म होते ही विज ने कर्मचारी को तलब किया और उसका मोबाइल ले लिया। जब उन्होंने मोबाइल देखा तो हतप्रभ रह गए और पुलिस को तलब किया। कर्मचारी काफी देर तक माफी मांगता रहा। लेकिन विज ने साफ कर दिया कि वो कड़ी कार्यवाही के लिए तैयार रहे।

ये भी माना जा रहा है कि कर्मचारी फाइलों की जानकारी दे कर पैसा वसूलता था। विज के अनुसार, ऐसी संभावना है कि जो फाइल मेरे द्वारा अप्रूव हो जाती थी, उनको आगे संबंधित व्यक्ति को बताकर कि उसका काम मैंने करवा दिया है, ऐसे वो पैसे लेता था।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र