पंडित कमलापति त्रिपाठी के 116 वीं जयंती भारतीय पत्रकार सम्मानित पर तीन पत्रकार सम्मानित

 


लखनऊ, (मानवी मीडिया)आज पंडित कमला पति त्रिपाठी  की 116वीं जयंती आनलाइन वेव समारोह के द्वारा अपरान्ह 03 बजे आयोजित किया गया। जिसमें प्रतिवर्ष की भांति राष्ट्रीय पत्रकारिता सम्मान से तीन पत्रकार को सम्मानित किया गया। समारेह की अध्यक्षता हरदेव पत्राकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति  ओमथानवी ने किया तथा मुख्य अतिथिय सम्बोधन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रवक्ता  पवन खेड़ा द्वारा हुआ।

कार्यक्रम की शुरूआत वैजनाथ सिंह द्वारा राष्ट्रगीत के माध्यम से एवं समापन राष्ट्रगान के माध्यम से हुआ। सर्वप्रथम स्वागत भाषण पूर्व विधायक  ललितेश पति त्रिपाठी द्वारा किया गया, तत्पश्चात पंडित कमला पति त्रिपाठी राष्ट्रीय पत्राकरिता पुरस्कार 2021 की फांउण्डेशन की ओर से घोषणा  वैजनाथ सिंह द्वारा की गई।  मुख्य रूप से भारत समाचार के मुख्य सम्पादक  बृजेश मिश्र को लखनऊ में वर्चुअल द्वारा पंडित कमला पति त्रिपाठी के दौहित्य 

वीरेन्द्र पाण्डेय बबलू द्वारा अंगवस्त्रम, मोमेंटो सम्मान पत्र एवं सम्मान राशि के चेक द्वारा किया गया वहां मुख्यरूप से  वीरेन्द्र मदान, द्विजेन्द्र त्रिपाठी, अमरनाथ अग्रवाल, कृष्णकांत पाण्डेय, प्रमोद सिंह उपस्थित रहे। वाराणसी में  प्रदीप कुमार एवं एके लारी को उक्त पुरस्कार से  ललितेशपति त्रिपाठी द्वारा सम्मानित किया गया।

उक्त कार्यक्रम में पंडित कमला पति त्रिपाठी बहुआयामी जीवन शिर्षक प्रे. सतीश राय की फाउण्डेशन द्वारा प्रकाशित पुस्तक का लोकार्पण विशिष्ट अतिथि प्रो. राम मोहन पाठक (पूर्व कुलपति, वरिष्ठ पत्रकार एवं पत्रकारिता आचार्य) द्वारा किया गया। अपने सम्बोधन में पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी ने पूर्वांचल में आजादी के बाद किये गये कार्यो का जिक्र करते हुए रिहंद बांध की परिकल्पना तथा उसे जमीन पर उतारने की पंडित जी के कार्यो का वर्णन किया।

मुख्य अतिथि के रूप में  पवन खेड़ा  द्वारा पत्रकारिता के पूर्व एवं वर्तमान की स्थिति पर विशेषरूप से चर्चा करते हुए कहा कि पत्रकार सच्चे मामले में बहुत कुछ करना चाहते है लेकिन जब से कारपोरेट का मीडिया पर अधिकार बढ़ा है तब से पत्रकारिता के आयाम बदल गया है।

सम्मानित किये गये भारत समाचार के मुख्य सम्पादक  बृजेश मिश्र ने अपने सम्बोधन में पंडित  को ऊर्जा पुरूष बताते हुए उनके मुख्यमंत्रित्व काल के कार्यो का उल्लेख किया साथ ही कहा कि पत्रकारिता सत्ता या विपक्ष के लिए नहीं बल्कि समाज के हर वर्ग के लिए निष्पक्ष होनी चाहिए। कुछ चंद नेताओं के इर्द गिर्द की पत्रकारिता कभी निष्पक्ष नहीं हो सकती है तथा इस पत्रकारिता से हम समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति की समस्या उजागर नहीं कर सकते है।

अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में  थानवी ने इस सम्मान समारोह का जिक्र करते हुए निष्पक्ष एवं निर्भय पत्रकारिता के लिए  बृजेश मिश्र को धन्यवाद दिया तथा इस कार्यकम की अध्यक्षता करने का अवसर मिलने पर फाउण्डेशन का आभार व्यक्त किया।

फाउण्डेशन के अध्यक्ष  राजेशपति त्रिपाठी ने सभी सम्मानित अतिथिगण के प्रति आभार व्यक्त किया तथा अंत में  विजय शंकर पाण्डेय द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया। कार्यक्रम का संचालन एवं संयोजन प्रो. सतीश राय द्वारा किया गया। कार्यक्रम के तकनीकी संयोजक  पुनीत मिश्र एवं मयंक कुमार रहे।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र