रिलायंस बीपी मोबिलिटी लगाएगी हजारों बैटरी स्वैपिंग स्टेशन, स्वीगी के डिलिवरी वाहन होंगे इलेक्ट्रॉनिक

 रिलायंस बीपी मोबिलिटी और स्वीगी ने इलेक्ट्रॉनिक वाहनों की बैटरी स्वैपिंग के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): आपके खाने का ऑर्डर अब बिजली की तेजी से आपके यहां पहुंचेगा। जी हां यह सच है, रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड और फूड डिलिवरी एप स्वीगी ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जिसमें कहा गया है कि खाने की डिलिवरी करने वाले स्वीगी के वाहनों को इलेक्ट्रॉनिक किया जाएगा। मतलब भविष्य में स्वीगी के डिलिवरी टू-व्हीलर वाहन, बैटरी ऑपरेटिड इलेक्ट्रॉनिक वाहन में बदल जाएंगे। जाहिर है जब स्वीगी के लाखों ऑर्डर लेने वाले डिलिवरी वाहन इलेक्ट्रॉनिक हो जाएंगे तो उसके लिए बैटरी स्वापिंग स्टेशन यानी बैटरी बदलने वाले स्टेशन्स की जरूरत होगी, जिसे रिलायंस बीपी मोबिलिटी अपने बैटरी स्वैप स्टेशन से पूरा करेगा।   

उद्योग जगत के दो प्रमुख खिलाड़ियों के बीच इस साझेदारी का उद्देश्य एक नए बिजनेस मॉडल के माध्यम से डिलिवरी वाहनों के बेड़े को वातावरण के अनुकुल और किफायती बनाना है। स्विगी की सहायता से विभिन्न स्थानों पर जियो-बीपी बैटरी स्वैपिंग स्टेशन लगाए जाएंगे। स्विगी डिलीवरी पार्टनर्स और स्विगी स्टाफ को रिलायंस बीपी मोबिलिटी बैटरी स्वैपिंग से संबंधित तकनीकी सहायता और प्रशिक्षण देगा

रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरीश सी मेहता ने कहा, “भारत सरकार के इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के विजन का आरबीएमएल सपोर्ट करता है। हम एक मजबूत और टिकाऊ बुनियादी ढांचा स्थापित कर रहे हैं जिसमें ईवी चार्जिंग हब और बैटरी स्वैपिंग स्टेशन शामिल हैं। हमें विश्वास है कि स्विगी और उनके डिलीवरी पार्टनर हमारे बैटरी स्वैप स्टेशनों के व्यापक नेटवर्क से लाभान्वित होंगे।“

स्विगी के सीईओ श्रीहर्ष मजेटी ने कहा, " स्विगी का बेड़े के डिलिवरी वाहन प्रतिदिन औसतन 80- 100 किमी की यात्रा करते हैं और लाखों ऑर्डर डिलिवर करते हैं। हम पर्यावरणीय पड़ने वाले इसके प्रभाव के प्रति जागरूक हैं और इसके लिए आवश्यक कदम उठा रहे हैं। इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलाव इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इसका न केवल पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा बल्कि हमारे डिलिवरी पार्टनर्स की भी कमाई बढ़ेगी।” अगले 5 वर्षों में जियो बीपी ने हजारों बैटरी स्वैप स्टेशनों का एक नेटवर्क स्थापित करने का लक्ष्य रखा है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र