हंगामे के कारण संसद न चलने पर 130 करोड़ रुपए का हुआ नुकसान: रवि शंकर प्रसाद


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता रवि शंकर प्रसाद ने लगातार हंगामे के कारण संसद के मानसून सत्र में व्यवधान पड़ने पर विपक्ष पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि संसद के दोनों सदनों में व्यवधान के कारण अब तक 130 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। पूर्व कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने मीडिया से कहा, आज 5 अगस्त का शुभ दिन है। 2 वर्ष पहले आज ही के दिन अनुच्छेद 370 समाप्त हुआ। पिछले साल इसी दिन प्रभु राम के भव्य राम जन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास हुआ और आज फिर हॉकी टीम की जीत से देश में खुशी और उल्लास है।

रवि शंकर प्रसाद ने कहा, कांग्रेस ने 1947 के बाद से करीब 50 साल राज किया। लेकिन आज उनका व्यवहार कितना उचित है ये देश को जानना जरूरी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक सीधा मंत्र है कि परिवार का हित जब तक संसद साधेगी, तब तक संसद चलने दी जाएगी। जहां परिवार का हित नहीं होगा, वहां संसद नहीं चलने दी जाएगी

रवि शंकर ने कहा, कोविड को लेकर कांग्रेस पार्टी की गंभीरता बस इतनी ही है कि प्रधानमंत्री जी ने जब बैठक बुलाई थी, उसमें में कांग्रेस पार्टी शामिल नहीं हुई थी। आज हम संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं। लेकिन कांग्रेस की कोई गंभीरता नहीं है। रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि पेगासस पर मंत्री का वक्तव्य हुआ तो इन लोगों ने उसे मंत्री के सामने फाड़ दिया। कोई गंभीरता इन लोगों में नहीं है। क्या आज तक इन्होंने कोई सबूत दिया है कि इनका फोन टेप हुआ है? नहीं।

रवि शंकर ने कहा, लगातार व्यवधान के कारण संसद न चलने से अभी तक 130 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। हम संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं। बहुत तीखे सवाल भी हमें कांग्रेस पार्टी से पूछने हैं। लेकिन एक सवाल ईमानदारी से हम पूछते हैं कि क्या कांग्रेस पार्टी और विपक्ष संसद में चर्चा चाहते हैं?

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र