लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश


लखनऊ , (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बुखार फैला हुआ है। हैरानी वाली बात है कि बुखार के शिकार बच्चें हो रहे हैं। मथुरा,फिरोजाबाद, मैनपुरी में तमाम बच्चों की मृत्यु हो चुकी है। कोरोना बार-बार रूप बदल रहा है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मथुरा, मैनपुरी और फिरोजाबाद में रहस्यमय वायरल बीमारी को रोकने लिए सख्त निर्देश दिए हैं। इन तीनों जिलों में विशेष डॉक्टरों की टीम भेजी जाएगी जो इस बीमारी के फैलने और रोकथाम के लिए काम करेंगी। 

तीन जिलों में बीमारी का कहर

सोमवार को शासन द्वारा जारी आदेश में यह कहा गया है कि लक्षणों और हालातों के हिसाब से तत्काल प्रभाव से सभी इंतजाम किए जाएं। बता दें कि यूपी के इन तीनों जिलों में पिछले कई दिनों से इस बीमारी से ग्रसित मरीज पाए जा रहे हैं जिन को देखते हुए यूपी के सीएम ने यह निर्देश दिया है।

तेज बुखार से हो रही बच्चों की मौत

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में डेंगू बुखार की शुरुआत मक्खनपुर क्षेत्र से हुई लेकिन आज यह महामारी बनकर पूरे जिले में फैल चुका है। कई गांवों और मुहल्लों में बच्चे इसकी चपेट में आकर काल का ग्रास बन चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं। रविवार शाम बुखार से पीड़ित आठ बच्चों की मौत हो गई। इससे पहले शनिवार तक बुखार से मरने वालों की संख्या 33 थी। लगातार हो रही बच्चों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा जगह-जगह कैंप लगाए जा रहे हैं।

50 से ज्यादा लोगों की गयी जान

जानकारी के मुताबिक यूपी के तीन जिलों में बीमारों की संख्‍या बढ़ती जा रही है। बुखार का कहर इतना अधिक हो गया है कि बीते 15 दिनों में 50 से ज्यादा मौतें हो गईं हैं। इसे लेकर डेंगू की आशंका जताई जा रही है लेकिन अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि इस बीमारी का असली कारण क्‍या है। मंगलवार को आगरा और मथुरा की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने घर-घर मरीजों का हाल जाना था। सीएमओ डा. रचना गुप्ता ने बताया था कि डेंगू की आशंका व्यक्त की जा रही है। अभी रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र