किसानों के ऊपर हो रहे जुर्म को बर्दाश्त नहीं करेगा- लोकदल

 किसानों के ऊपर हो रहे जुर्म को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा - लोकदल

किसान एक तरफ फसल उपजा कर देश का पेट भर रहा है, दूसरी ओर अपने हक के लिए संघर्ष भी कर रहा है’- लोकदल


लखनऊ (मानवी मीडिया)लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने आंदोलन कर रहे गाजीपुर बॉर्डर पर सात महीनों से शांतिपूर्ण धरना दे रहे किसानों पर बुधवार को पुलिस की मौजूदगी में भाजपाइयों द्वारा शारीरिक रूप से हमला करने की कोशिश की कड़ी निंदा की है। भाजपाइयों द्वारा अन्नदाताओं का अपमान है। अन्नदाता देश को भूखा रहने से बचाता है यदि अन्नदाता नाराज हो जाएगा तो पूरा देश भूखे मर जाएगा किसान तो आज भी अपनी फसल बचाने के लिए आंदोलन के साथ साथ देश के प्रति अपना कर्तव्य निभा रहा है। किसान एक तरफ फसल उपजा कर देश का पेट  भर रहा है, दूसरी ओर अपने हक के लिए संघर्ष भी कर रहा है। सरकार पूँजीपतियों की मोह से बाहर नहीं आ रही है देश के कृषि मंत्री अपने अहंकार से ग्रस्त होकर बोल रहे हैं कि कृषि कानूनों को रद्द करने का प्रश्न नहीं उठता। देश के प्रधानमंत्री ने भी कहा था कि उनके और किसानों के बीच में एक फोन काल की दूरी है परन्तु वह टेलीफोन नम्बर आज तक जारी नहीं हो सका । इस आधार पर यह भी कहा जा सकता है कि किसानों की अवहेलना और आन्दोलन को कमजोर करने की साजिश केन्द्र सरकार के संरक्षण में हो रही है। भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा निराशा में किसान आंदोलन (अन्नदाता) को समाप्त कराने के लिए साजिश रच रही है। लेकिन आंदोलनकारी किसान भी कोई कच्ची गोलियां नहीं खेले हैं और जैसे उन्होंने हर बार आंदोलन को क्षति पहुंचाने की साजिशों को मुंहतोड़ जवाब दिया है, वैसे आगे भी देते रहेंगे।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र