अगस्त में कोरोना की तीसरी लहर भारत में दे सकती है दस्तक, रिपोर्ट में दावा-सितंबर में बिगड़ सकते हैं हालात

नई दिल्ली   (मानवी मीडिया) कोरोना की दूसरी लहर के धीमे पड़ने की खबरों के बीच एक रिपोर्ट ने सबकी नींद उड़ा दी है। एसबीआई रिसर्च द्वारा प्रकाशित 'कोविड -19: द रेस टू फिनिशिंग लाइन' शीर्षक वाली रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में अगस्त के मध्य तक खतरनाक कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की संभावना है, जबकि मामले सितंबर में चरम पर पहुंच सकते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक भारत में केवल 4.6 प्रतिशत आबादी को पूरी तरह से टीका लगाया गया है, जबकि 20.8 प्रतिशत को एक खुराक मिली है, जो अमेरिका (47.1 प्रतिशत), यूके (48.7 प्रतिशत), इजराइल (59.8 प्रतिशत) स्पेन (38.5 प्रतिशत), फ्रांस (31.2) में अन्य देशों की तुलना में बहुत कम है। SBI की रिसर्च रिपोर्ट की मानें तो 7 मई को भारत में कोरोना की दूसरी लहर अपने पीक पर पहुंच गई थी. दूसरी लहर अप्रैल में भारत में आई और मई में अपने चरम पर पहुंच गई, जिससे दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल और अन्य राज्यों के लाखों लोगों को परिवार प्रभावित किया।

एसबीआई समूह के मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्य कांति घोष ने कहा कि 21 अगस्त से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के साथ यह कम से कम एक महीने तक बढ़ते रहेंगे जब तक चरम पर नहीं पहुंच जाते। यह स्थिति सितंबर में बन सकती है। हालांकि, वर्तमान हालात यह दर्शाते हैं कि देश में अभी कोरोना की दूसरी लहर समाप्त नहीं हुई है। 

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र