भीम यूपीआई अब भूटान में

नई दिल्ली (मानवी मीडिया) नेशनल पेमेंट्स काॅर्पोरेशन ऑफ इंडिया की इंटरनेशनल इकाई एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनआईपीएल) और भूटान के रॉयल मॉनेटरी अथॉरिटी (आरएमए) ने भूटान में भीम यूपीआई क्यूआर-आधारित भुगतानों को सक्षम और कार्यान्वित करने के लिए भागीदारी करते हुए इस सेवा को शुरू किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और भूटान के वित्त मंत्री ल्योंपोनामगे शेरिंग द्वारा आज यहां वर्चुअल माध्यम से यह सेवा शुरू की गई। इस वर्चुअल समारोह में भूटान के रॉयल मॉनेटरी अथॉरिटी (आरएमए) के गवर्नर दाशो पेन्जौर, भारत के वित्तीय सेवा विभाग के सचिव देबाशीष पांडा, भारत में भूटान के राजदूत जनरल वी नामग्याल, भूटान में भारत की राजदूत रुचिरा कंबोज तथा एनपीसीआई के एमडी और सीईओ दिलीप अस्बे तथा अन्य विशिष्ट अतिथि उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वर्ष 2019 में हुई भूटान यात्रा के दौरान इस सेवा को शुरू करने पर सहमति बनी थी। भूटान में भीम यूपीआई की शुरुआत से दोनों अर्थव्यवस्थाओं के बीच वित्तीय एकीकरण की दिशा में एक नई उपलब्धि जुड़ी है।

एनआईपीएल और आरएमए के बीच सहयोग से भूटान में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) संचालित भीम ऐप की स्वीकृति संभव हो सकेगी। आरएमए यह सुनिश्चित करेगा कि भाग लेने वाले एनपीसीआई मोबाइल एप्लिकेशन को यूपीआई क्यूआर लेनदेन के माध्यम से भूटान में सभी आरएमए अधिग्रहित व्यापारियों पर स्वीकार किया जाए। इस लॉन्च से भारत के 200,000 से अधिक पर्यटकों को भी लाभ होगा जो हर साल भूटान की यात्रा करते हैं। इस लॉन्च के साथ, भूटान अपने क्यूआर डिप्लोयमेंट के लिए यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) मानकों को अपनाने वाला पहला देश बन जाएगा। साथ ही, भूटान रुपे कार्ड जारी करने और स्वीकार करने के साथ-साथ भीम यूपीआई को स्वीकार करने वाला भारत को छोड़कर दुनिया का पहला देश बन जाएगा।

यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) एक इंस्टेंट रीयल-टाइम भुगतान प्रणाली है, जो उपयोगकर्ताओं को अपने बैंक खाते का विवरण दूसरे पक्ष को बताए बिना कई बैंक खातों में वास्तविक समय के आधार पर धन हस्तांतरित करने की अनुमति देता है। सरल, सुरक्षित, लागत प्रभावी मोबाइल-आधारित भुगतान प्रणाली डिजिटल भुगतान के सबसे प्रमुख तरीकों में से एक बन गई है। 2020 में, यूपीआई ने 457 अरब डालर के कारोबार को सक्षम बनाया, जो भारत के सकल घरेलू उत्पाद के लगभग 15 प्रतिशत के बराबर है।

एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनआईपीएल) के सीईओ रितेश शुक्ला ने कहा, ‘‘हमारी दृष्टि हमारे मजबूत और लोकप्रिय भुगतान समाधानों को हमेशा वैश्विक बाजारों में पहुंचाने पर केंद्रित रही है।’’

डिजिटल भुगतान के क्षेत्र में भूटान के साथ इस रणनीतिक साझेदारी से न केवल भारतीय यात्रियों के लिए भूटान में लेन-देन में आसानी होगी, बल्कि भूटान में ग्राहकों का जीवन भी और सरल और मूल्यवान हो जाएगा।
 

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक