बैंक ऑफ बड़ौदा करेगा स्टार्टअप्स को सहयोग, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया के साथ हुआ समझौता


लखनऊ, (मानवी मीडिया)10 जुलाई, देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में से एक, बैंक ऑफ बड़ौदा ने पूरे भारत में स्टार्टअप्स को सहयोग प्रदान करने हेतु ने अपने बड़ौदा स्टार्टअप बैंकिंग कार्यक्रम के अंतर्गत सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया (एस.टी.पी.आई.) और ए.आई.सी. एस.टी.पी.आई.एन.ई.एक्स.टी. इनिशिएटिव्स  के साथ एक समझौता ज्ञापन (एम.ओ.यू.) पर हस्ताक्षर किया है।

इस कार्यक्रम के तहत, लखनऊ गुरुग्राम, दिल्ली, नोएडा, बेंगलुरु, चेन्नई, मुंबई, जयपुर, अहमदाबाद, पुणे, हैदराबाद, चंडीगढ़,  कोलकाता, इंदौर और कोच्चि जैसे प्रमुख स्टार्टअप हब्स में 15 विशेष स्टार्टअप शाखायेँ कार्यरत हैं।

बड़ौदा स्टार्टअप बैंकिंग के तहत प्रदान की जाने वाली प्रमुख सेवायें इस प्रकार हैं:

विशिष्ट एवं प्रशिक्षित बैंक अधिकारी जैसे कि स्टार्टअप चैंप्स और रिलेशनशिप मैनेजर जो संपर्क के एकल केंद्र होंगे

विशेष रूप से स्टार्टअप्स के लिए तैयार किए गए अनुकूलित बैंकिंग उत्पादों का संग्रह

क्लाउड कम्प्यूटेशन, को-वर्किंग स्पेसेज़, टैक्स निर्धारण, लेखांकन, विधिसम्मत आदि के क्षेत्र के बड़े सेवा प्रदाताओं द्वारा अधिमान्य दरों पर प्रदान की जाने वाली सेवाओं का संग्रह।

इस एम.ओ.यू. के बारे में बताते हुए बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य डिजिटल अधिकारी, श्री अखिल हांडा ने कहा, "वर्ष 2020 स्टार्टअप्स का दशक है और एक प्रमुख वित्तीय संस्थान के तौर पर, हम निरंतर अभिनवकारी बैंकिंग उत्पादों और सेवाओं को तैयार करने की दिशा में काम कर रहे हैं, जो स्टार्टअप्स की अनूठी और विशिष्ट बैंकिंग आवश्यकताओं को पूरा करते हैं। इसी उद्देश्य के परिणामस्वरूप एस.टी.पी.आई. और एस.टी.पी.आई.एन.एक्स.टी. के साथ हमारी साझेदारी संभव हुई है, जो संपूर्ण भारत में अभिनवकारी स्टार्टअप्स के लिए अपनी तरह का एक अनूठा सक्षमकर्ता बनकर उभरी है। इस साझेदारी के माध्यम से हम साथ मिलकर भारत में स्टार्टअप के परिवेश के विकास को बढ़ावा देंगे।

Previous Post Next Post