कोरोना के बाद 'मंकीपॉक्स संक्रमण' ने बढ़ाई समस्यां, 18 साल बाद सामने आया पहला मामला

नई दिल्ली (मानवी मीडिया) दुनिया भर में कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच अमेरिका के टेक्सस राज्य में एक शख्स में मंकीपॉक्स का मामला सामने आया है। पिछले करीब दो दशकों में अमेरिका में मंकीपॉक्स का ये पहला मामला है। आखिरी बार अमेरिका में 2003 में मंकीपॉक्स के मामले सामने आए थे जब इस वायरस से 47 लोग संक्रमित मिले थे।

एनबीसी न्यूज के अनुसार जिस शख्स में मंकीपॉक्स का ताजा मामला सामने आया है, वो 8 जुलाई को फ्लाइट के जरिए नाइजीरिया से अटलांटा गया था। बाद में 9 जुलाई को डालास भी गया था। मरीज को डलास में एक अस्पताल में आइसोलेशन में रखा गया है और उसकी हालत स्थिर है। अमेरिका के टेक्सस में मंकीपॉक्स का ये पहला मामला है। इस बीच डालास काउंटी जज क्ले जेंकिंस ने कहा है, 'ये बहुत दुर्लभ मामला है लेकिन इसमें चिंता की बात नहीं है और हमें ऐसी आशंका नहीं है कि इससे आम लोगों को और ज्यादा खतरा होगा।'

क्या है मंकीपॉक्स संक्रमण?
WHO के अनुसार, वर्ष 1970 में पहली बार मनुष्यों में मंकीपॉक्स संक्रमण के केस सामने आए थे। तब से अब तक 11 अफ्रीकी देशों में इस वायरस की पुष्टि हो चुकी है। अफ्रीकी देशों से बाहर वर्ष 2003 में अमेरिका में मंकीपॉक्स संक्रमण के मामलों की पुष्टि की गई थी, इसके 18 वर्ष पश्चात् 2021 में यह पहला केस है। रिपोर्टस के अनुसार, वर्ष 2003 में घाना से आयात किए गए पालतू कुत्तों के संपर्क में आने कि वजह से अमेरिका में संक्रमण फैला था। भारत समेत एशियाई देशों में इस प्रकार के मामलों की पुष्टि नहीं है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि मंकीपॉक्स संक्रमण, संक्रमित जानवरों के खून, शारीरिक तरल पदार्थ या त्वचा कि चोट के संपर्क में आने कि वजह से मनुष्यों में फैलता है। यह संक्रमण मूलरूप से किस जानवर से जुड़ा है, इस बारे में एक्सपर्ट्स को स्पष्ट खबर नहीं है।

 

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक