जातिसूचक गाली देने पर उ0 प्र0 का इंस्पेक्टर निलंबित


चंदौली (मानवी मीडिया) : चंदौली में एक आधिकारिक मामले को लेकर हुई बहस के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) अनिल कुमार को कथित तौर पर जातिसूचक गाली देने और धमकी देने वाले इंस्पेक्टर रवींद्र सिंह को निलंबित कर दिया गया है। महानिरीक्षक वाराणसी रेंज, एस.के. भगत ने एएसपी द्वारा इंस्पेक्टर पर लगाए गए आरोप की जांच करने के बाद गुरुवार शाम एडीजी वाराणसी जोन बृजभूषण के माध्यम से अपनी रिपोर्ट डीजीपी को सौंपी, जिसके बाद इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया।

बुधवार को एएसपी का शिकायत पत्र, जिसे उन्होंने डीजीपी, एडीजी वाराणसी जोन के अलावा मुख्यमंत्री और एससी/एसटी आयोगों को भेजा था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि उक्त निरीक्षक ने उन्हें जातिवादी टिप्पणी के साथ धमकी दी थी। पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

एडीजी ने इसे गंभीरता से लेते हुए आईजी वाराणसी रेंज को मामले की जांच करने को कहा है।

 आईजी ने अपनी जांच में पाया कि एएसपी को पुलिस लाइन के रिकॉर्ड में गड़बड़ी का पता चलने के बाद, उनके और इंस्पेक्टर के बीच तीखी बहस हुई, जिसमें उन्होंने कथित तौर पर जातिवादी टिप्पणी की।

उन्होंने बताया कि आईजी ने अपनी विस्तृत जांच के निष्कर्षों के आधार पर निरीक्षक को निलंबित कर दिया है और विभागीय कार्रवाई का भी आदेश दिया गया है।

उन्होंने कहा कि, एडीजी को सौंपी गई रिपोर्ट में की गई अन्य सिफारिशें गोपनीय हैं।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र