नितिन गडकरी के हिमाचल दौरे पर हंगामा: सीएम के सुरक्षा अधिकारी और एसपी कुल्लू के बीच चले थप्पड़, लात-घूंसे देखें


कुल्लू (मानवी मीडिया)-केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के स्वागत के लिए भुंतर पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की सुरक्षा में तैनात सुरक्षा अधिकारी व एसपी कुल्लू गौरव के बीच जोरदार झड़प होने का मामला सामने आया है। इस घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो  रही है। वीडियो में दोनों तरफ से हाथापाई होती दिख रही है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के स्वागत के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भुंतर हवाई अड्डा पहुंचे थे। जैसे ही केंद्रीय मंत्री का काफिला भुंतर हवाई अड्डे से बाहर निकलने लगा तो सडक़ के किनारे फोरलेन प्रभावित किसान भी मिलने के लिए पहुंचे थे।

प्रभावित लोगों को देख नितिन गडकरी ने अपनी गाड़ी को रोका और खुद उतर कर उनसे मिलने पहुंच गए। वहीं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी अपने वाहन से उतरकर उन सभी लोगों से मिलने पहुंचे। इस दौरान प्रभावित लोगों ने प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर भी निराशा व्यक्त की तथा कहा कि उनकी मांगों पर लंबे समय से गौर नहीं किया जा रहा है। जिसके चलते उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस पर केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री को निर्देश दिया कि जल्द से जल्द उनकी मांगों पर गौर किया जाए। तभी अचानक मुख्यमंत्री की गाड़ी की पिछली साइड सुरक्षाकर्मी व एसपी कुल्लू के बीच झड़प हो गई। इस झड़प को देखते हुए स्थानीय लोगों ने भी एसपी कुल्लू के पक्ष में नारेबाजी करनी शुरू कर दी तथा इस तरह से झड़प के बारे में अपना रोष भी व्यक्त किया। वीडियो में स्थानीय लोग जहां प्रदेश सरकार का विरोध करते हुए नजर आ रहे हैं तो वहीं एसपी कुल्लू की कार्यप्रणाली से खुश होकर उनके पक्ष में नारेबाजी भी कर रहे हैं। फोरलेन प्रभावित संघ के सदस्यों का कहना है कि सरकार लंबे समय से उनकी मांगों को अनसुना कर रही है जिसके चलते उन्हें आज केंद्रीय मंत्री से मिलने के लिए मजबूर होना पड़ा है। नितिन गडकरी के कुल्लू दौरे के दौरान पुलिए अधीक्षक कुल्लू व मुख्यमंत्री के सुरक्षा कर्मीयों के बीच हुई हाथापाई को लेकर पुलिस मुख्यालय तुरंत हरकत में आया है और तीन पुलिस कर्मीयों को तुरंत प्रभाव से हटा दिया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी खुद जांच की बात कही है। शिमला से कुल्लू रवाना होने के बाद पहली कार्रवाई करते हुए डीजीपी ने हिमाचल प्रदेश पुलिस एक्ट की धारा 63 के तहत पुलिस अधीक्षक कुल्लू, मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारी, एएसपी बृजेश सूद व मुख्यमंत्री के पीएसओ बलवंत को जबरन छुट्टी पर भेजा है। प्रारंभिक जांच पूरी होने तक इन तीनों के मुख्यालय अलग-अलग फिक्स किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक कुल्लू की ड्यूटी फिलहाल डीआईजी सेंट्रल रेंज मधुसूदन संभालेंगे। मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारी और एएसपी बृजेश सूद की ड्यूटी एएसपी रैंक के अफसर और पुनीत रघु को सौंपी गई है। सीएम सिक्योरिटी के पीएसओ बलवंत के स्थान पर आईजी (इंटैलीजेंस) किसी अन्य की ड्यूटी लगाएंगे। डीजीपी पुलिस द्वारा जारी ओदेशों के अनुसार  प्रारंभिक जांच पूरी होने तक उ तीनों पुलिस अधिकारी व कर्मचारी जबरन छुट्टी पर भेजे गए हैं। साथ ही, इन सभी के मुख्यालय भी फिक्स किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक कुल्लू को रेंज ऑफिस मंडी, एएसपी बृजेश सूद को पुलिस मुख्यालय शिमला व बलवंत को भी पुलिस मुख्यालय ही फिक्स किया गया है। डीजीपी संजय कुंडू की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि ये कार्रवाई पुलिस बल में अनुशासन बनाए रखने के लिए की गई है। जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती, उक्त अफसर व पीएसओ कंपल्सरी लीव पर रहेंगे

Previous Post Next Post