ट्यूटर ने रविशंकर प्रसाद का अकाउंट एक घंटे तक बंद रखा, अमेरिकी कानून का दिया हवाला


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार 25 जून को दावा किया है कि ट्विटर ने करीब एक घंटे तक उनका अकाउंट ब्लॉक रखा। रविशंकर प्रसाद ने बताया कि ट्विटर ने ये कदम कॉपीराइट उल्लंघन की शिकायतों के बाद उठाया है। प्रसाद अपने एक इंटरव्यू का हिस्सा शेयर करना चाह रहे थे, लेकिन नहीं कर सके। हालांकि, बाद में ट्विटर ने चेतावनी देते हुए रविशंकर प्रसाद के अकाउंट को फिर से खोल दिया। 

  ट्यूटर का कहना था कि केंद्रीय IT मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संयुक्त राज्य अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट ऐक्ट का उल्लंघन किया, जिसकी वजह से उनके अकाउंट को ब्लॉक कर दिया गया। हालांकि बाद में ट्विटर ने प्रसाद के अकाउंट को अनब्लॉक कर दिया। अपना अकाउंट ब्लॉक किए जाने पर प्रसाद ने ट्विटर पर लिखा, 'मित्रों! आज कुछ बहुत ही अनोखी बात हुई। ट्विटर ने कथित तौर पर संयुक्त राज्य अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट के उल्लंघन के चलते लगभग एक घंटे तक मुझे अकाउंट को ऐक्सेस नहीं दिया और बाद में इसे ऐक्सेस करने की इजाजत दे दी।' रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 'कोई भी प्लेटफॉर्म कुछ भी कर ले आईटी को लेकर नया कानून मानना ही पड़ेगा। इसे लेकर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। ट्विटर की कार्रवाई यह बताती है कि वो बोलने की आजादी का हितैषी नहीं, उसे सिर्फ अपना एजेंडा चलाने में दिलचस्पी है। रविशंकर प्रसाद ने कहा ट्विटर की कार्रवाई आईटी के नियमों के खिलाफ है। अकाउंट ब्लॉक करने से पहले ट्विटर ने मुझे कोई नोटिस नहीं दिया। इससे साबित होता है कि ट्विटर नए नियमों को नहीं मानना चाहता है। अगर ट्विटर नए नियमों का पालन करता तो वो किसी के अकाउंट को मनमाने तरीके से लॉक नहीं करता।'

Previous Post Next Post