भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी को बड़ा झटका, UK के गृह मंत्री ने दी प्रत्यर्पण को मंजूरी

नई दिल्ली (मानवी मीडिया) पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है। CBI के मुताबिक ब्रिटेन के गृह मंत्री ने भगोड़े हीरा व्यापारी मोदी के प्रत्यर्पण को हरी झंडी दे दी है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत यात्रा से ठीक पहले ब्रिटिश गृह मंत्री ने नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर दस्तखत कर दिए है। हालांकि नीरव मोदी को ब्रिटिश हाई कोर्ट में अपील का अधिकार अभी बाकी है। बीते महीने अदालत ने आर्थिक अपराधी मोदी को प्रत्यर्पित किए जाने की मांग को स्वीकार किया था। ब्रिटेन की अदालत में ये कानूनी लड़ाई करीब 2 साल तक चली थी।

फरवरी में कोर्ट ने उसके खिलाफ पर्याप्त सबूत होने की बात मान ली थी और उसकी सभी दलीलों को खारिज कर दिया था। कोर्ट ने यह भी माना था कि नीरव मोदी ने सबूत मिटाने और गवाहों को धमकाने की साजिश रची। जमानत को लेकर नीरव मोदी के कई प्रयास मजिस्ट्रेट अदालत और उच्च न्यायालय में खारिज कर दिए गए थे क्योंकि उसके फरार होने का जोखिम रहा।

सीबीआई के अधिकारी ने जानकारी दी है कि नीरव मोदी को भारत लाने की मंजूरी मिल गई है। उन्होंने बताया कि ब्रिटेन के गृहमंत्री ने इस बात को मंजूरी दे दी है। मोदी को जल्द ही भारत लाए जाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। खास बात है कि मोदी के बाद सीबीआई ने उसके भाई निहाल मोदी पर भी शिकंजा कसा था।  

नीरव मोदी पर आरोप है कि उसने पंजाब नेशनल बैंक को 13 हजार 570 करोड़ रुपये का चूना लगाया। 19 मार्च, 2019 को गिरफ्तारी के बाद से वह बार-बार जमानत से वंचित होने के बाद वंड्सवर्थ जेल में बंद है। हालांकि, उसके पास अभी भी ब्रिटेन में हाई कोर्ट के सामने वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के आदेश के खिलाफ अपील करने का विकल्प है। 

 



Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र