प्रदेश में कोरोना के संक्रमण के केस में उछाल आ रहा है, सरकार इसके लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध:: योगी

 प्रदेश में कोरोना के संक्रमण के केस में उछाल आ रहा है, सरकार इसके लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है

टेस्ट की संख्या बढ़ाई गई हैं, अस्पताल में भी सुविधा बढ़ाई गयी है जैसा कि कोरोना के पीक के समय में थी

प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण सोमवार से शनिवार किया जा रहा है

जो लोग 45 वर्ष से अधिक हैं वे अपना टीकाकरण नजदीकी सरकारी अस्पताल में करायेंगे तो निःशुल्क होगा, अगर प्राइवेट चिकित्सालय में करायेंगे तो एक डोज का 250 रूपये भुगतान करना होगा

उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 19 करोड़ लोगों तक सरकारी मशीनरी द्वारा पहुंचकर हालचाल जाना गया है

3.52 करोड़ टेस्ट हुए है, इतनी बड़ी संख्या में टेस्ट पूरे देश में कहीं नहीं हुए है

15.37 करोड़ की जनसंख्या तक व्यक्तिगत रूप से हमारी टीमों ने पहुंचकर उनका हालचाल जाना है

प्रदेश में औद्योगिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही हैं

प्रदेश में इस बार 31 मार्च को समाप्त वित्तीय वर्ष में रिकार्ड 9,97,000 नई एमएसएमई इकाइयों की स्थापना इस वर्तमान वित्तीय वर्ष में हुई जिसके लिए बैंकों ने 37735 करोड़ रूपये का ऋण वितरण किया गया

प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या को दूर करने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.39 लाख इकाइयों को जो वित्त पोषण हुआ है

लगभग 14.50 लाख इकाइयांे से 30 लाख से अधिक रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं

मिशन रोजगार में इस प्रकार निजी इकाइयों के माध्यम से रोजगार सृजन किया जा रहा है, युवाओं में उद्योगों में काम करने का अवसर मिला है

इस वर्तमान वित्तीय वर्ष में इस लक्ष्य से अधिक नई इकाइयों की स्थापना और उनको वित्त पोषित किया जायेगा

प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है

प्रदेश सरकार द्वारा 01 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक धान खरीद कर इस वर्ष 66 लाख मी0 टन का रिकार्ड धान खरीद की गयी, पिछले वर्ष से लगभग 120 प्रतिशत अधिक धान खरीदा गया, जोकि एक रिकार्ड है

प्रदेश सरकार द्वारा 01 अप्रैल, 2021 से 15 जून, 2021 तक प्रातः 09 से सायं 06 बजे तक सम्पूर्ण प्रदेश में गेहूॅ की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रूपये प्रति कुन्तल पर की जायेगी

अब तक 2,13,000 किसानो ने अपना पंजीकरण करा लिया है

गत 03 दिन में 55 मी0टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है

किसानों की सुविधा के लिए इस वर्ष आॅनलाइन टोकन की व्यवस्था की गयी है

किसान अपनी सुविधा के अनुसार अपने राजस्व ग्राम से सम्बद्ध नजदीकी क्रय केन्द्र पर गेहूं विक्रय हेतु टोकन स्वयं आॅनलाइन प्राप्त कर सकेंगे

प्रदेश सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद किये जाने हेतु 6000 क्रय केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं

सप्ताह में 03 दिन लघु एवं सीमान्त किसानों से ही खरीद की जायेगी

मुख्यमंत्री  ने सभी मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी को निर्देशित किया है कि समस्त केन्द्रों पर समय-समय पर निरीक्षण करें

- नवनीत सहगल

प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,66,110 सैम्पल की जांच की गयी, जिसमें से 76000 आईटीपीसीआर के माध्यम से जांच की गयी

प्रदेश में अब तक कुल 3,52,36,205 सैम्पल की जांच की गयी है

प्रदेश में 16,496 कोरोना के एक्टिव मामले में से 8,933 लोग होम आइसोलेशन में हैं

निजी चिकित्सालयों 383 मरीज अपना इलाज करा रहे है, इसके अतिरिक्त एल-1, एल-2 सरकारी चिकित्सालयों में निशुल्क इलाज करा रहे है

प्रदेश में अब तक 6,05,077 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं

प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,89,536 क्षेत्रों में 5,16,834 टीम दिवस के माध्यम से 3,16,80,095 घरों के 15,37,14,820 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है

45 वर्ष से ऊपर का हर व्यक्ति टीकाकरण करा सकते हैं

सरकारी केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन निःशुल्क किया जा रहा है, अगर प्राइवेट चिकित्सालय में जायेंगे तो एक डोज का 250 रूपये भुगतान करना होगा

अब तक 53,67,043 लोगों को पहली डोज लगायी गयी तथा 10,61,184 लोगों को दूसरी डोज लगायी गई

कुल मिलाकर कल तक 64,28,227 वैक्सीनेशन की डोज लगायी जा चुकी हैं

कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर सोमवार से शनिवार तक किया जा रहा है

इस समय विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है

आप लोग अपने हाथ को साबुन पानी से बार-बार धोते/सेनेटाइज करते रहें, तथा मास्क का प्रयोग अवश्य करें

संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें

-अमित मोहन प्रसाद

लखनऊ: (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना  नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में कोरोना के संक्रमण के केस में उछाल आ रहा है, सरकार इसके लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। टेस्ट की संख्या बढ़ाई गई हैं। अस्पताल में भी सुविधा बढ़ाई गयी है जैसा कि कोरोना के पीक के समय में थी। प्रदेश में 5392 कन्टेनमेंट जोन हैं। प्रदेश के सभी लोगों से अपील है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का अवश्य पालन करें, जैसे साबुन-पानी से नियमित हाथ धोते रहे, मास्क लगाये उसके साथ-साथ जो टीकाकरण की प्रक्रिया चल रही है उसमें बढ़-चढ़कर भाग लें। प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण सोमवार से शनिवार किया जा रहा है। जो लोग 45 वर्ष से अधिक हैं वे अपना टीकाकरण नजदीकी सरकारी अस्पताल में करायेंगे तो निःशुल्क होगा, अगर प्राइवेट चिकित्सालय में करायेंगे तो एक डोज का 250 रूपये भुगतान करना होगा। इसमें किसी प्रकार का डर न रखें और मैं स्वयं आज सुबह टीका लगवा कर आया हूं। प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर प्रत्येक परिवार तक पहंुच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। सर्विलांस अभियान के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 19 करोड़ लोगों तक सरकारी मशीनरी द्वारा पहुंचकर हालचाल जाना गया है, अभी तक 3.52 करोड़ टेस्ट हुए है। इतनी बड़ी संख्या में टेस्ट पूरे देश के किसाी राज्य में नहीं हुए है। 15.37 करोड़ की जनसंख्या तक व्यक्तिगत रूप से हमारी टीमों ने पहुंचकर उनका हालचाल जाना है।

सहगल ने बताया प्रदेश में औद्योगिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही हैं। प्रदेश में इस बार 31 मार्च को समाप्त वित्तीय वर्ष में रिकार्ड 997000 नई एमएसएमई इकाइयों की स्थापना हुई जिसके लिए बैंकों ने 37735 करोड़ रूपये का ऋण वितरण किया। प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या को दूर करने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.39 लाख इकाइयों का वित्त पोषण हुआ है। लगभग 14.50 लाख इकाइयांे से 30 लाख से अधिक रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं। मिशन रोजगार में इस प्रकार निजी इकाइयों के माध्यम से रोजगार सृजन किया जा रहा है युवाओं को उद्योगों में काम करने का अवसर मिला है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में इस लक्ष्य से अधिक नई इकाइयों की स्थापना और उनको वित्त पोषित किया जायेगा।


 सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। उनके टेक्नालाॅजी से उनको जोड़ना, क्रेडिट कार्ड से किसानों को जोड़ना, प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना से जोड़ना, अब सरकार ने बटाईदारों के लिए भी बीमा योजना की घोषणा की है इसकी कार्यवाही चल रही है। जिसके क्रम में प्रदेश सरकार द्वारा 01 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक इस वर्ष 66 लाख मी0 टन का रिकार्ड धान खरीद की गयी, जो कि पिछले वर्ष का लगभग 120 प्रतिशत अधिक धान खरीदा है। जो कि एक रिकार्ड है। प्रदेश सरकार द्वारा 01 अप्रैल, 2021 से 15 जून, 2021 तक प्रातः 09 से सायं 06 बजे तक सम्पूर्ण प्रदेश में गेहूॅ की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रूपये प्रति कुन्तल पर की जायेगी। अब तक 2,13,000 किसानो ने अपना पंजीकरण करा लिया है। गत 03 दिन में 55 मी0टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है। किसानों की सुविधा के लिए इस वर्ष आॅनलाइन टोकन की व्यवस्था की गयी है। किसान अपनी सुविधा के अनुसार अपने राजस्व ग्राम से सम्बद्ध नजदीकी क्रय केन्द्र पर गेहूं विक्रय हेतु टोकन स्वयं आॅनलाइन प्राप्त कर सकेंगे। क्रय केन्द्रों पर बिना टोकन के भी किसानों से खरीद की जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद किये जाने हेतु 6000 क्रय केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं। सप्ताह में 03 दिन लघु एवं सीमान्त किसानों से ही खरीद की की जायेगी। उन्होंने बताया कि किसानों को क्रय केन्द्रों पर जाकर अधिक से अधिक गेहूं देना चाहिए। मुख्यमंत्री जी ने सभी मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी को निर्देशित किया है कि समस्त केन्द्रों पर समय-समय पर निरीक्षण करें।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य  अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,66,110 सैम्पल की जांच की गयी, जिसमें से 76000 आईटीपीसीआर के माध्यम से जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 3,52,36,205 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 3290 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 16,496 कोरोना के एक्टिव मामले में से 8,933 लोग होम आइसोलेशन में हैं। निजी चिकित्सालयों 383 मरीज अपना इलाज करा रहे है, इसके अतिरिक्त एल-1, एल-2 सरकारी चिकित्सालयों में निशुल्क इलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 6,05,077 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,89,536 क्षेत्रों में 5,16,834 टीम दिवस के माध्यम से 3,16,80,095 घरों के 15,37,14,820 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि अपने हाथ को साबुन-पानी से धोते रहें। जब आप अपने हाथ को धोते हैं तो कम से कम 30 सेकण्ड तक धोते रहें जिससे विषाणु नष्ट हो जायें, और जहां भी जाइये लोगों से दो गज की दूरी अवश्य बनाएं, और भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। बिना जिला प्रशासन की अनुमति के किसी कार्यक्रम का आयोजन न करें। और कोशिश करें कि घर के बड़े-बुजुर्ग का टीकाकरण अवश्य कराएं। 45 वर्ष से ऊपर का हर व्यक्ति टीकाकरण करा सकते हैं। सरकारी केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन निःशुल्क किया जा रहा है, अगर प्राइवेट चिकित्सालय में जायेंगे तो एक डोज का 250 रूपये भुगतान करना होगा। उन्होंने बताया कि अब तक 53,67,043 लोगों को पहली डोज लगायी गयी तथा 10,61,184 लोगों को दूसरी डोज लगायी गई। कुल मिलाकर कल तक 64,28,227 वैक्सीनेशन की डोज लगायी जा चुकी हैं। कोविड वैक्सीनेशन का कार्य सोमवार से शनिवार तक निरन्तर किया जा रहा है।


प्रसाद ने बताया कि इसी क्रम में आप लोगों से अपील करते हैं कि 08 व 09 अप्रैल, 2021 को मीडिया बन्धु, विभिन्न प्रतिष्ठानों दुकानदार, 10 अप्रैल को बैंक, इन्श्योरेंस कर्मी, 12,13,14 अप्रैल को स्कूल, काॅलेज में अध्यापक, 15,16 अप्रैल को बस ड्राइवर, आॅटो रिक्शा ड्राइवर, रेहड़ी व पटरी के दुकानदार, 17 व 19 अप्रैल को सरकारी कार्यालयों में अधिकारी व अधीनस्थ कर्मचारियों को, 20,21 अप्रैल को अधिवक्ता बन्धु व ज्यूडिशियल कर्मचारियों को, 22 व 23 अप्रैल को प्राइवेट कार्यालयों के अधिकारी व निजी कर्मचारियों से अपील है कि 45 वर्ष से ऊपर जितने भी लोग हैं वे इन तिथियों को अपना कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण अवश्य कराएं। इसके निर्देश जनपदों के अधिकारियों को भी जारी किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस समय विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। आप लोग अपने हाथ को साबुन पानी से बार-बार धोते/सेनेटाइज करते रहें, तथा मास्क का प्रयोग अवश्य करें। संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र