मामले बढ़ने से कोरोना बीमा की मांग बड़े पैमाने पर बढ़ी

नई दिल्ली (मानवी मीडिया) देश में कोविड-19 के मामलों में भयंकर तेजी के साथ ही इससे जुड़े बीमा की मांग में भी जबरदस्त तेजी दर्ज की जा रही है। डिजिटल भुगतान प्लेटफार्म फोनपे ने पिछले साल लॉन्च किए गए अपने कोरोना वायरस बीमा उत्पाद की स्वीकार्यता से जुड़े आंकड़े जारी किए हैं जिससे पता चला है कि कोरोना वायरस बीमा की बड़े पैमाने पर स्वीकृति हुई है जिसमें 75 प्रतिशत पॉलिसी की खरीदारी टियर -1 शहरों के बाहर छोटे शहरों के ग्राहकों द्वारा की गई है।

बिक्री में योगदान देने वाले शीर्ष राज्यों में महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना और गुजरात शामिल हैं। फोनपे ने फरवरी की तुलना में मार्च 2021 में कोरोना बीमा बिक्री में पांच गुना वृद्धि देखी है (जब मामले राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ने लगे थे) ।

ग्राहकों को दिए गए क्लेम के संदर्भ में, शीर्ष राज्यों में आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, दिल्ली और कर्नाटक शामिल हैं। 3.5 करोड़ रुपए से अधिक के ग्राहकों के क्लेम का पहले ही भुगतान किया जा चुका है। 75 प्रतिशत क्लेम देश के छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले ग्राहकों से किए गए थे।

बजाज एलांयस जनरल इंश्योरेंस के साथ मिलकर फोनपे आज बाजार में सबसे सस्ती कोरोना वायरस बीमा पॉलिसी प्रदान करता है। 50,000 रुपए के कवर के लिए वार्षिक प्रीमियम 396 रुपए जितना कम है। ग्राहक 541 रुपए के प्रीमियम पर 1,00,000 के बड़े कवर का विकल्प चुन सकते हैं। कवर किसी भी अस्पताल में कोविड-19 के इलाज पर लागू है। यह अस्पताल में भर्ती होने के पहले की लागत और उसके बाद के मेडिकल ट्रीटमेंट से संबंधित 30 दिनों के खर्चों को भी कवर करता है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र