चुनाव में अव्यवस्था फैलाने वालों से सख्ती से निपटेगा औरैया प्रशासन


औरैया (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में निष्पक्ष व शांति पूर्ण पंचायत चुनाव सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन पूरी तत्परता से जुटा है और मतदान प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अव्यवस्था फैलाने वालों से सख्ती ने निपटने के निर्देश जारी कर दिये गये हैं।जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा और पुलिस अधीक्षक (एसपी) अपर्णा गौतम ने शनिवार को बिधूना क्षेत्र में अतिसंवेदनशील व संवेदनशील बूथों का निरीक्षण कर जहां इंतजाम व व्यवस्थाएं देखी वहीं चुनाव में अव्यवस्था फैलाने वालों को सख्त चेतावनी दी कि पुलिस व प्रशासन उनसे निपटने में सक्षम है।

जिलाधिकारी बताया कि उन्होंने आज पुलिस अधीक्षक के साथ मिलकर जिले के बिधूना क्षेत्र के अतिसंवेदनशील/संवेदनशील बूथों पसुआ, जागूपुर मंझपुर्वा का निरीक्षण किया, इस दौरान बूथों के पर्याप्त इंतजाम व व्यवस्था को देखने के साथ जहां ग्रामीणों से बातचीत भी की गयी और 26 अप्रैल को निर्भीक होकर कोविड-19 के नियमों तहत उचित दूरी बनाकर मतदान करने की अपील की गयी।ग्रामीणों को बताया गया कि मतदान के दिन बूथों पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस फोर्स मौजूद रहेगा, कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं करने ‌पायेगा, अराजक किस्म के लोग मतदान के दिन बूथों के इर्द-गिर्द नजर नहीं आयेंगे। वहीं उन्होंने ‌संभावित प्रत्याशियों को बुलाकर संदेश दिया गया कि कानून व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास न करें अन्यथा पुलिस व प्रशासन उनसे निपटने में सक्षम है। उन्होंने कहा पंचायत चुनाव में कोविड-19 के नियमों व धारा 144 का पालन करने हेतु प्रचार के दौरान भीड़ एकत्रित न करने और अराजकता करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही। इस दौरान ‌दोनों अधिकारियों ने ब्लाक कार्यालय पहुंचकर नामांकन पत्र दाखिल किए जाने की व्यवस्थाओं का जायजा लिया और आने जाने वाले मार्ग व वाहनों को नामांकन स्थल से उचित दूरी पर पार्क कराने की व्यवस्था करने के संबंधित को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र