उ0प्र0: अखिलेश यादव के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कोरोना की चपेट में,


लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बाद अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कोरोना पॉजिटिव आए हैं। उन्होंने खुद को घर में आइसोलेट कर लिया है। इस बात की जानकारी खुद मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट में कहा, शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने कोविड की जांच कराई और मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैं सेल्फ आइसोलेशन में हूं और चिकित्सकों के परामर्श का पूर्णत पालन कर रहा हूं। सभी कार्य वर्चुअली संपादित कर रहा हूं। बता दें कि इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। मुख्यमंत्री ने एक और ट्वीट किया और लिखा, प्रदेश सरकार की सभी गतिविधियां सामान्य रूप से संचालित हो रही हैं। इस बीच जो लोग भी मेरे संपर्क में आएं हैं वह अपनी जांच अवश्य करा लें और एहतियात बरतें। दरअसल मुख्यमंत्री कार्यालय में SP गोयल, सचिव अमित सिंह और OSD अभिषेक कौशिक समेत कई लोग कोरोना पॉजिटिव आए थे। इसके बाद सीएम योगी ने एहतियातन खुद को आइसोलेट कर लिया था। इधर योगी में भी कोरोना वायरस के लक्षण दिखे और उनकी भी कोरोना वायरस की जांच की गई और इसमें वह पॉजिटिव पाए गए हैं। 5 अप्रैल को ली थी कोरोना वैक्सीन की पहली डोज

योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वैक्सीनेशन की पहली डोज 5 अप्रैल को लगवाई थी। यह वैक्सीनेशन लखनऊ के सिविल अस्पताल में हुआ था। सीएम ने वैक्सीनेशन के बाद सभी लोगो से वैक्सीनेशन लगवाने की अपील की थी।  अखिलेश यादव भी पॉजिटिव


सपा के अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। अखिलेश ने खुद ट्वीट कर बुधवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा, अभी-अभी मेरी कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैंने अपने आपको सबसे अलग कर लिया है और घर पर ही उपचार शुरू हो गया है। उन्होंने इसी ट्वीट में कहा, पिछले कुछ दिनों में जो लोग मेरे संपर्क में आये हैं, उन सबसे विनम्र आग्रह है कि वे भी जाँच करा लें

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र