एनवी रमन्ना होंगे देश के अगले CJI, मौजूदा चीफ जस्टिस बोबडे ने केंद्र सरकार को भेजी सिफारिश


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जस्टिस एनवी रमन्ना देश के अगले मुख्य न्यायाधीश होंगे। मौजूदा चीफ जस्टिस एस.ए. बोबडे ने उनके नाम की सिफारिश सरकार को भेजी है। पिछले दिनों ही सरकार ने उनसे अपने उत्तराधिकारी के तौर पर नाम भेजने को कहा था। जानकारी के अनुसार भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने केंद्र सरकार को एक पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम न्यायाधीश न्यायमूर्ति एनवी रमन्ना को अगले सीजेआई के रूप में नियुक्त करने की सिफारिश की है।

बता दें कि चीफ जस्टिस एस.ए. बोबडे 23 अप्रैल को अपने पद से रिटायर होने वाले हैं। इसके बाद एनवी रमन्ना शीर्ष अदालत के मुख्य न्यायाधीषश के तौर पर कामकाज देखेंगे। जस्टिस नाथुलापति वेकट रमन्ना को 2 फरवरी 2017 को सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किया गया था। फिलहाल उनके कार्यकाल के दो साल से कम वक्त बचा है, क्योंकि 26 अगस्त 2022 में वो रिटायर होने वाले हैं। उन्होंने 10 फरवरी 1983 में वकालत शुरू की थी। जिस दौरान चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, उस दौरान जस्टिस रमन्ना आंध्र प्रदेश सरकार के एडिशनल एडवोकेट जनरल हुआ करते थे।supreme courtकिसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले एनवी रमन्ना ने साइंस और लॉ में ग्रेजुएशन किया है। इसके बाद उन्होंने आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट, केंद्रीय प्रशासनिक ट्रिब्यूनल और सुप्रीम कोर्ट में कानून की प्रैक्टिस शुरू की। राज्य सरकारों की एजेंसियों के लिए वो पैनल काउंसेल के तौर पर भी काम करते थे। 27 जून 2000 में वो आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में स्थायी जज के तौर पर नियुक्त किए गए। इसके बाद साल 2013 में 13 मार्च से लेकर 20 मई तक वो आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ़ जस्टिस रहे।2 सितंबर 2013 को जस्टिस रमन्ना का प्रमोशन हुआ। इसके बाद वो दिल्ली हाईकोर्ट के चीफ़ जस्टिस नियुक्त किए गए। फिर 17 फरवरी 2014 को उन्हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनाया गया। जस्टिस एनवी रमन्ना फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जजों में सीजेआई एसए बोबडे के बाद वो दूसरे नंबर पर आते हैं। ऐसे में उनका अगला सीजेआई बनना तय माना जा रहा है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र