मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता से असुरक्षित महसूस कर रही है प्रधानमंत्री मोदी की केंद्र सरकार: मनीष सिसोदिया

अरविंद केजरीवाल गवर्नेंस मॉडल की चर्चा पूरे देश में, इसलिए दिल्ली के कामों को रोकना चाहती है केंद्र की भाजपा सरकार: मनीष सिसोदियाअरविंद केजरीवाल के अच्छे गवर्नेंस मॉडल को अपनाने की जगह फेल कर रही है केंद्र की बीजेपी सरकार: मनीष सिसोदिया

 अरविंद केजरीवाल फाइटर हैं, नहीं रुकने देंगे जनता के हितों के कार्य: सिसोदियाअरविंद केजरीवाल का मॉडल सुपरहिट, देश में कहीं नहीं है मोदी मॉडल की चर्चा: मनीष सिसोदिया   


नई दिल्ली  (मानवी मीडिया): दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि, दिल्ली के संदर्भ में मोदी सरकार ने जो बिल पास किया है, ये मोदी जी और भाजपा की असुरक्षा को दर्शाता है। आज पूरे देश में केजरीवाल मॉडल की चर्चा हो रही है। केजरीवाल जी को लोग मोदी जी के विकल्प के रूप देखने लगे है, इससे घबरा कर केजरीवाल जी को अच्छे काम करने से रोकने के लिए ये बिल लाया गया है। दिल्ली द्वारा पिछले 6 सालों में किए गए कार्यों के विषय में बताते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा कि, पिछले 6 साल के अंदर दिल्ली में अभूतपूर्व काम हुए हैं। पूरी दुनिया में, पूरे भारत में, पूरी दिल्ली में लोग इन कामों की चर्चा कर रहे हैं। दिल्ली के स्कूलों में शिक्षा को लेकर शानदार काम हुआ है, स्वास्थ्य के क्षेत्र में शानदार काम हुआ है, दिल्ली के अस्पताल बहुत अच्छे हो गए हैं। हर इलाके में मोहल्ला क्लीनिक बन रहे हैं। सरकारी स्कूलों के नतीजे बहुत अच्छे आ रहे हैं। लोगों को 24 घंटे फ्री बिजली मिल रही है, दिल्ली के लोगों को फ्री में साफ पानी मिल रहा हैं। दिल्ली की सड़के बहुत अच्छी हो गई हैं। आज पूरे देश के अंदर केजरीवाल मॉडल की खूब चर्चा हो रही हैउपमुख्यमंत्री ने कहा कि, "आज देश के दूसरे राज्यों के लोग भी कह रहे है कि हमें भी दिल्ली की तरह 24 घंटे फ्री बिजली चाहिए, हमें भी अच्छे सरकारी स्कूल चाहिए, हमें भी अच्छे अस्पताल चाहिए। लोग चारों ओर केजरीवाल मॉडल ऑफ़ गवर्नेंस की बात कर रहे हैं। देश में कहीं मोदी मॉडल या भाजपा मॉडल की चर्चा नहीं है, अगर हम पूछें कि भाजपा की सरकारों ने या केंद्र सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में क्या किया तो कुछ भी ध्यान नहीं आता, अगर हम पूछें कि केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्या काम किया तो कुछ भी याद नहीं आता।"  उन्होंने कहा कि यदि दिल्ली में लोगों को 24 घंटे फ्री बिजली मिल सकती है तो बाकि राज्यों में क्यों नहीं है? दिल्ली में हर घर में फ्री पानी पहुंच सकता है तो बाकि राज्यों में क्यों नहीं? कुल मिलाकर मोदी मॉडल या भाजपा मॉडल कुछ भी नहीं है और लगातार फेल होता जा रहा है। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए अलोकतांत्रिक बिल पर निशाना साधते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि, "आज पूरे देश में केजरीवाल मॉडल की डिमांड हो रही है और जब मोदी और भाजपा केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस से मुकाबला नहीं कर पा रहे तो इनके सामने एक ही रास्ता बचा है कि केजरीवाल को काम करने से रोको। केजरीवाल जी दिल्ली में राशन की होम डिलीवरी योजना ला रहे हैं, ये कितनी अच्छी योजना है, मगर केंद्र सरकार इसमें भी अड़ंगे लगा रही है। अगर केंद्र सरकार चाहती तो ये पूरे देश में कर सकती थी लेकिन नहीं किया। केजरीवाल ने दिल्ली में डोर-स्टेप डिलीवरी ऑफ़ सर्विसेज़ किया जिसके तहत अगर आपको कोई भी सरकारी काम कराना है तो आप सरकार को कॉल करते हैं और सरकारी आदमी आपके घर आकर आपका काम करके जाता है, ये काम मोदी सरकार पूरे देश में कर सकती थी लेकिन नहीं किया, जो काम केजरीवाल सरकार कर रही हैं वह मोदी सरकार नहीं कर पा रही, इसलिए केजरीवाल  को रोकने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा केजरीवाल सरकार के लोकहित के कामों को रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि "केजरीवाल को स्कूल मत बनाने दो, अस्पताल मत बनाने दो, जनता के हित के काम मत करने दो। अड़चनों पर अड़चने लगा दो लेकिन केजरीवाल जी भी फ़ाइटर हैं, पिछले 6 साल में केंद्र सरकार ने जितनी अड़चने अड़ाई लेकिन उसके बावजूद भी केजरीवाल सरकार ने जनता के हित के सभी कामों को करके दिखाया हैं, इस बार भी केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली की चुनी हुई सरकार को रोकने के लिए जो अड़चने लगा रही है, इसके बाबजूद भी केजरीवाल सरकार जनता के लिए लड़कर उनके हितों का काम करेंगे। मनीष सिसोदिया ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि, "देश की जनता को अब पता चल गया है कि मोदी और भाजपा को अब केजरीवाल जी से डर लगने लगा है, अभी तक लोग पूछते थे कि मोदी नहीं तो कौन? मोदी के बाद कौन? अब लोगों को मोदी विकल्प के तौर पर केजरीवाल मिल गए हैं।" उन्होंने आगे कहा कि भाजपा को डर है कि केजरीवाल जी ऐसे ही काम करते रहे तो वे देश के सबसे लोकप्रिय नेता बन जाएंगे। केजरीवाल की लोकप्रियता को खत्म करने के लिए उन्हें और उनके कामों को केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा रोकने का प्रयास किया जा रहा है। जब से सूरत के नतीजे आए हैं, जब से देश के अगल-अलग राज्यों में हुए पंचायती चुनाव और नगर निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी लड़ने लगी है और जीत रही है तब से भाजपा की नींद उड़ चुकी है। ये असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक बिल सिर्फ़ केजरीवाल के अच्छे कामों को रोकने के लिए लाया गया है, लेकिन केजरीवाल जी भी फ़ाइटर हैं वो दिल्ली की जनता के हित में होने वाले अच्छे कामों को रुकने नहीं देंगे।उपमुख्यमंत्री ने कहा कि "मोदी जी नेगेटिव राजनीति कर रहे हैं, अच्छे काम को रोकने की राजनीति कर रहे हैं, देश की तरक्की रोकने की राजनीति कर रहे हैं। अगर कोई अच्छा काम कर रहा है तो प्रधानमंत्री को तो उसे आगे बढ़ाना चाहिए। प्रधानमंत्री का पद तो पिता के समान होते है, किसी भी पार्टी का मुख्यमंत्री हो अगर वो अच्छा काम कर रहा है तो प्रधानमंत्री को उसका समर्थन करना चाहिए, उसकी मदद करनी चाहिए और पूरे देश में उस मॉडल को अपनाना चाहिए, ना कि उसके काम को रोकना चाहिए। लेकिन बदले की राजनीति, नेगेटिव राजनीति की मंशा से आज अच्छे कामों को करने से रोका जा रहा है। ये अच्छी बात नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर कोई अच्छा काम कर रहा है तो उसके सामने और बेहतर काम करके लम्बी लकीर खींचनी चाहिए,न कि उसकी लकीर मिटाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र