दूसरी कक्षा में पढऩे वाली नातिन के साथ बेड पर गलत हरकतें करता था नाना, कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा

मुंबई (मानवी मीडिया) यहां की विशेष अदालत ने प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट के तहत 65 वर्षीय व्यक्ति को उम्रकैद की सजा सुनाई है। ये सजा उक्त व्यक्ति को अपनी बेटी और नाबालिग नातिन से रेप के आरोप में सुनाई गई है। आरोपी को बतौर जुर्माना बेटी को 50 और नातिन को 25 हजार रुपए देने होंगे। इस बाबत पीडि़त महिला ने बताया कि वह अपनी शादी के बाद अपने माता-पिता के साथ ही रह रही थी। महिला के अनुसार उसके पिता, भाई और पति चित्रकार थे। महिला का यौन उत्पीडऩ उसका पिता करता था और इस बारे में पीडि़ता ने अपने पड़ोसी को बताया था। महिला ने अपनी शिकायत में कहा कि साल 2017 में एक दिन उसकी बेटी जो दूसरी कक्षा में पढ़ती थी, ने उसे बताया कि नाना रात में जब उसके साथ सोते हैं, तो उसके साथ गलत हरकत करते हैं। 
बेटी से विवरण सुनने के बाद महिला तुरंत पुलिस स्टेशन पहुंची और अपने पिता के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया। सभी सबूतों और तर्कों के बाद न्यायाधीश रेखा एन पंधारे ने आईपीसी की धारा 376 (2) (बलात्कार) और पॉक्सो एक्ट के तहत आरोपी को दोषी पाया। 

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र