Posts

Showing posts from August, 2020

दो से ज्यादा बच्चे हैं तो चुनाव लड़ने पर लग सकती है रोक, ::मुख्यमंत्री योगी*********************** सोमवार 31 अगस्त 2020 | लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार राज्य में पंचायत चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के लिए दो बच्चों का मानक और न्यूनतम शिक्षा आधार को शामिल करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। पंचायती राज के अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने कहा कि प्रस्ताव पर सक्रियता से विचार किया जा रहा है और जल्द ही यह औपचारिक रूप ले सकता है। बीते महीने केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान ने उत्तर प्रदेश सरकार से एक कानून लाने और दो से अधिक बच्चे पैदा करने वालों को चुनाव लड़ने से रोकने की अपील की थी।राजस्थान, गुजरात, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र जैसे कई राज्यों ने ऐसे कानून बनाए हैं, जिसमें दो से अधिक बच्चों वाले लोगों को स्थानीय निकाय चुनाव लड़ने से प्रतिबंधित किया गया है। उत्तराखंड ने भी इसी तरह का कानून पेश किया था, लेकिन बाद में राज्य के हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगा दी थी। बाल्यान ने एक पत्र के माध्यम से उत्तर प्रदेश की आबादी को लेकर चिंता व्यक्त की थी, जहां अब 23 करोड़ से अधिक जनसंख्या है। उन्होंने दावा किया कि अगर राज्य इस तरह के कानून को लागू करता है, तो यह एक मिसाल कायम करेगा और आबादी को कम करने में मदद करेगा। उन्होंने लिखा, "हमारे राज्य को जनसंख्या नियंत्रण के लिए एक अभियान शुरू करना चाहिए। और यह अगले पंचायत चुनाव से शुरू किया जा सकता है। जिनके पास दो से अधिक बच्चे हैं, उन्हें अगला चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।" इस बीच कई विपक्षी दलों ने इस आधार पर प्रस्ताव लाने को लेकर आपत्ति जताई कि यह 'अन्यायपूर्ण और मनमाना' है। समाजवादी पार्टी ने कहा कि इस कदम का उद्देश्य पंचायत चुनाव लड़ने से निचले वर्गों को वंचित करना है।पार्टी प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि यह कदम 'असंवैधानिक' है, क्योंकि इससे कमजोर और दलित लोगों को न्यूनतम शिक्षा आधार के कारण चुनाव लड़ने से रोका जाएगा। कांग्रेस नेता सुरेंद्र राजपूत ने कहा कि प्रस्तावित नियम पंचायती राज व्यवस्था की भावना के खिलाफ है, जो कमजोर वर्गों को सशक्त बनाने और उन्हें राजनीतिक मुख्यधारा में लाने की मांग करते थे। उन्होंने कहा, "हालांकि हम जनसंख्या रोकने की आवश्यकता पर सहमत हैं लेकिन यह निश्चित रूप से ऐसा करने का तरीका नहीं है।" वहीं, उत्तर प्रदेश ग्राम प्रधान संघ ने कहा कि प्रस्ताव को उन्हें विश्वास में लिए बिना अंतिम रूप दिया जा रहा है और उन्होंने इसके लागू होने पर इसका विरोध करने की धमकी दी। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

असंगठित क्षेत्र की कमर तोड़ कर सरकार ने अर्थव्यवस्था को किया तबाह : राहुल, **************************** सोमवार 31 अगस्त2020 | नई दिल्ली (मनवी मीडिया): कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए आरोप लगाया है कि उसने असंगठित पर प्रहार कर देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है। गांधी ने सोमवार को यहां जारी एक वीडियो सन्देश में कहा कि अर्थव्यवस्था पर यह आक्रमण सोची समझी रणनीति के तहत किया गया है और इसका मकसद असंगठित क्षेत्र में काम करने वाली डेज़ह की बड़ी आबादी को गुलाम बनाना है।उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र देश में 90 फ़ीसदी से ज्यादा आबादी को रोजगार देता है लेकिन मोदी सरकार ने रोजगार पैदा करने वाले क्षेत्र को जानबूझकर तबाह कर रही है। उन्होंने इसे एक साजिश बताया और कहा कि यह देश के लीगो को गुलाम बनाने की कोशिश है और इसकी पहचान कर सबको इसके खिलाफ लड़ना पड़ेगा। भारत के संदर्भ में असंगठित क्षेत्र के महत्व को समझाते हुए उन्होंने 2008 की जबरदस्त आर्थिक तूफान का हवाला दिया और कहा कि उस दौर में अमेरिका, जापान, चीन सहित पूरी दुनिया के बैंक गिर गए, बन्द होने में एक के बाद एक कंपनियों की लाइन लग गई, यूरोप के बैंक गिरे लेकिन भारत मे इस मंदी का असर नही हुआ। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

लखनऊ सीएमओ अपडेट ******************सोमवार 31 अगस्त.2020 लखनऊ (मनवी मीडिया) कोविड प्रोटोकाल के दृष्टिगत कुल 247 रोगियों को हास्पिटल का आवंटन किया गया। जिसमे से 247 रोगियों के लिए एम्बुलेंस का आवंटन भी कर दिया गया। देर शाम तक 148 रोगियों को हास्पिटल में भर्ती कराया जा चुका है। शेष 89 रोगियों द्वारा होम आईसोलेशन के लिए अनुरोध करके एम्बुलेंस को लौटा दिया गया। कुल होम आईसोलेशन रोगियों की संख्या - 17406 होम आईसोलेशन पूरा करने वाले रोगी - 12228 सक्रिय होम आईसोलेशन रोगी - 5178 आज कोविड-19 कंट्रोल रूम से होम आइसोलेशन के 5266 मरीजों से फोन के माध्यम से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली गई इसके साथ ही कोविड-19 कंट्रोल रूम में हेलो डॉक्टर सेवा में 147 मरीजों द्वारा स्वास्थ संबंधी परामर्श लिया गया । हेलो डॉक्टर सेवा मे 0522 3515700 कोविड संबंधित स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। कोविड कमांड कंट्रोल रूम लखनऊ 0522 4523000 05222610145 / दिनांक 31.8.2020 को जनपद लखनऊ के विभिन्न चिकित्सालय में कुल मृत्यु की संख्या 13 जनपद लखनऊ के कुल मृत्यु की संख्या 10 गैर जनपद के कुल मृत्यु की संख्या 3 जनपद हरदोई 1 जनपद प्रयागराज 1 जनपद अमेठी 1 लखनऊ, 31 अगस्त 2020 आज कुल 680 रोगियों को स्वस्थ होने के उपरान्त डिस्चार्ज किया गया। आज जनपद लखनऊ में कोरोना वायरस के सम्बन्ध में सर्विलान्स एवं कान्टेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 5756 लोगो के सैम्पल टीमों द्वारा लिये गये है । आज आशियाना 17, इंदिरा नगर 42, आलमबाग 41, ठाकुरगंज 23, तालकटोरा 19, हसनगंज 19, गोमती नगर 52, हजरतगंज 21, मड़ियांव 38, रायबरेली रोड 23, अलीगंज 12, कैंट 21, जानकीपुरम 31, कृष्णा नगर 10, सरोजिनी नगर 13, विकासनगर 35, नाका 15, बाजार खाला 14, सुशान्तगोल्फ सिटी 15, गुडम्बा 14, अमीनाबाद 10, वजीरगंज 10, इत्यादि स्थानों पर पाजिटिव रोगी पाये गये। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

कोरोना काल में अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका, टूटा रिकॉर्ड- न्यूनतम स्तर पर पहुंचा GDP,**************** सोमवार 31 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): कोरोना वायरस संक्रमण से निटपने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है। इसने 40 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 23.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा आज यहां जारी जीडीपी के तिमाही आंकड़ों के अनुसार पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह दर 5.2 प्रतिशत रही थी। लॉकडाउन के कारण देश में आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह से बंद हो गई थी। मार्च के अंतिम सप्ताह से लेकर मई मध्य तक पूरे देश में पूर्ण बंदी रही थी। इसके बाद सरकार ने चरणबद्ध तरीके से सामाजिक दूरी के मानदंडों का पालन करते हुये विनिर्माण सहित विभिन्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति दी थी और अब तक सभी क्षेत्र काेरोना से पहले की स्थिति में काम नहीं कर रहे हैं।आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की जीडीपी 2689556 करोड़ रुपये रहा है जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के 3535267 कराेड़ रुपये की तुलना में 23.9 प्रतिशत कम है। इस तरह से देश के जीडीपी की वृद्धि दर शून्य से 23.9 प्रतिशत नीचे रही है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में उर्वरक को छोड़कर अन्य सातों क्षेत्रों कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, इस्पात, सीमेंट तथा बिजली क्षेत्र के उत्पादन में गिरावट आई है। वहीं इस्पात का उत्पादन 16.5 प्रतिशत, रिफाइनरी उत्पादों का 13.9 प्रतिशत, सीमेंट का 13.5 प्रतिशत, प्राकृतिक गैस का 10.2 प्रतिशत, कोयले का 5.7 प्रतिशत, कच्चे तेल का 4.9 प्रतिशत और बिजली का 2.3 प्रतिशत नीचे आया. वहीं दूसरी ओर जुलाई में उर्वरक का उत्पादन 6.9 प्रतिशत बढ़ा. जुलाई, 2019 में उर्वरक उत्पादन 1.5 प्रतिशत बढ़ा। हालांकि अलग-अलग रेटिंग एजेंसियों और इंडस्ट्री के जानकारों ने पहली तिमाही में जीडीपी में गिरावट आने के अनुमान लगा लिए थे। इसकी वजह कोरोना वायरस महामारी और ‘लॉकडाउन’ बताया गया। देश में सकल घरेलू बताया गया है कि उत्पाद में बेतहाशा कमी आई है और रोजगार के आंकड़ों में भी बड़ी गिरावट है।

Image

अडाणी समूह संभालेगा मुंबई एयरपोर्ट की जिम्मेदारी, खरीदेगा" कितना प्रतिशत हिस्सेदारी,******************* सोमवार 31 अगस्त 2020 | मुंबई मानवी मीडिया): अडाणी समूह मुंबई हवाईअड्डे में 74 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगा। इस संदर्भ में समूह ने कहा कि मुंबई हवाईअड्डे में हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए उसका करार हो गया है। उद्योगपति गौतम अडाणी के अडाणी समूह का लक्ष्य देश की सबसे बड़ी हवाईअड्डा परिचालक कंपनी बनना है। मुंबई हवाईअड्डा देश के दूसरा सबसे व्यस्त हवाईअड्डा है इस संदर्भ में अडाणी एंटरप्राइज ने शेयर बाजारों को भेजी सूचा में कहा कि, 'अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स ने जीवीके एयरपोर्ट डेवलपर्स के ऋण के अधिग्रहण के लिए करार किया है।' ऋण को इक्विटी में बदला जाएगा। दोनों ही कंपनियों ने इस सौदे के वित्तीय पक्ष का खुलासा नहीं किया है।अडाणी समूह मुंबई हवाईअड्डे में जीवीके समूह की हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगा। अरबपति उद्योगपति गौतम अडाणी की अगुवाई वाले समूह ने सोमवार को कहा कि उसका मुंबई हवाईअड्डे में जीवीके समूह की हिस्सेदारी खरीदने और नियंत्रण हासिल करने का करार हो गया है।सूचना में कहा गया है कि अडाणी समूह मायल में एयरपोर्ट्स कंपनी ऑफ साउथ अफ्रीका (एसीएसए) तथा बिडवेस्ट की 23.5 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए भी कदम उठाएगा। इसके लिए उसे भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) की मंजूरी मिल चुकी है। यह सौदा पूरा होने के बाद जीवीके की 50.50 फीसदी हिस्सेदारी के साथ मुंबई हवाईअड्डे में अडाणी समूह की हिस्सेदारी 74 फीसदी हो जाएगी।अडानी समूह के खिलाफ सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं रोकी: अधिकारीबंदरगाह क्षेत्र में मजबूत पकड़ बनाने के बाद अडाणी समूह हवाईअड्डों पर दांव लगा रहा है। समूह को हाल ही में छह हवाईअड्डों के परिचालन का ठेका मिला है। इसमें लखनऊ, जयपुर, गुवाहाटी, अहमदाबाद, तिरुवनंतपुरम और मैंगलोर शामिल हैं। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान मे सात दिनों के राष्ट्रीय शोक की घोषणा , ************************* सोमवार 31 अगस्त2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का आज निधन हो गया और उनके सम्मान में आज से देश भर में सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की गई है। गृह मंत्रालय ने एक वक्तव्य जारी कर कहा है, “सरकार गहरे दुख के साथ पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन की घोषणा करती है। उनका सेना के रिसर्च एंड रैफरल अस्पताल में उपचार चल रहा था। दिवंगत आत्मा के सम्मान में देश भर में आज से 6 सितम्बर तक सात दिन का राजकीय शोक रहेगा।”इस दौरान देश भर में सभी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और आधिकारिक तौर पर मनोरंजन के कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जाएंगे। मुखर्जी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा लेकिन इसकी तिथि, समय और स्थान की घोषणा बाद में की जायेगी। पूर्व राष्ट्रपति को गत 10 अगस्त को आर आर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां उनके मस्तिष्क में खून का थक्का जमा होने का पता चला जिसके बाद उनका ऑपरेशन किया गया था। बाद में उनके फेफड़े में संक्रमण हो गया और गुर्दे में भी गड़बड़ी हो गयी। अस्पताल ने आज सुबह जारी बुलेटिन में कहा था कि मुखर्जी की हालत में रविवार के बाद से गिरावट दर्ज की गयी है और उनके कुछ अंगों ने काम करना बंद कर दिया है। वह पिछले काफी दिनों से गहरी बेहोशी की हालत में थे। उन्हें लगातार वेंटीलेटर पर ही रखा गया था। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

मुख्यमंत्री योगी ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया **************************। सोमवार: 31 अगस्त, 2020 लखनऊ (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। आज एक शोक सन्देश में मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी एक वरिष्ठ एवं अनुभवी राजनेता थे। राष्ट्र के प्रति श्री मुखर्जी की सेवाओं के दृष्टिगत उन्हें देश का सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ प्रदान किया गया था। श्री प्रणब मुखर्जी के व्यक्तित्व को प्रेरक बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वे एक सौम्य और मृदुभाषी नेता थे, जिनका सभी सम्मान करते थे। अपने लम्बे सार्वजनिक जीवन में श्री मुखर्जी ने विभिन्न उच्च पदों पर रहते हुए दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन किया। श्री प्रणब मुखर्जी सार्वजनिक जीवन में शुचिता, पारदर्शिता और स्पष्टवादिता की प्रतिमूर्ति थे। उनके निधन से राष्ट्र को अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇।

Image

प्रशांत भूषण बोले, एक रुपया जुर्माना भी भरूंगा और पुनर्विचार याचिका भी दायर करूंगा, *************************** सोमवार 31 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद वरिष्ठ अधिवक्ता और कार्यकर्ता प्रशांत भूषण ने एक प्रैस वार्ता करके कहा कि उनके ट्वीट्स का उद्देश्य अदालत या मुख्य न्यायाधीश का अपमान करना नहीं था। उन्होंने कहा कि वह इस मामले में पुनर्विचार याचिका भी दायर करेंगे। भूषण ने कहा कि वह एक रुपये का जुर्माना भी भरेंगे और फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका भी दायर करेंगे। उन्होंने कहा कि वह पहले ही कह चुके हैं कि अदालत उन्हें जो सजा देगी, वो उसे स्वीकार करेंगे।उन्होंने कहा, 'मैंने जो ट्वीट किए वो मेरी खुद की पीड़ा व्यक्त करने के लिए थे। यह अभिव्यक्ति की आजादी के संबंध में शानदार पल है और लगता है कि इसने कई लोगों को अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया है।' इससे पहले न्यायाधीश अरुण मिश्रा की पीठ ने आज प्रशांत भूषण अवमानना मामले पर यह आदेश दिया ,जिसमें उनपर एक रुपये का जुर्माना लगाया गया था और दंड की राशि अदा नहीं करने पर उन पर तीन वर्ष वकालत पर रोक लगाने और तीन माह की सजा शामिल थी। अधिवक्ता न्यायपालिका के खिलाफ ट्वीट करने के लिए दोषी ठहराए गए थे। न्यायाधीश मिश्रा, बी आर. गवई और कृष्ण मुरारी की पीठ ने 25 अगस्त को प्रशांत भूषण के अपने ट्वीट्स के लिए माफी मांगने से मना करने के बाद आदेश सुरक्षित रख लिया था। पीठ ने प्रशांत भूषण के ट्वीट के लिए माफी मांगने से मना करने का उल्लेख करते हुए कहा, “माफी मांगने में क्या गलत है? क्या यह शब्द इतना खराब है?” सुनवाई के दौरान पीठ ने प्रशांत भूषण को ट्वीट पर खेद व्यक्त नहीं करने के लिए अपने रुख पर विचार करने के लिए 30 मिनट का समय भी दिया था। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन देश के आर्थिक एवं राजनैतिक क्षेत्र के लिए एक अपूरणीय क्षति - आनंदीबेन पटेल *************************** सोमवार 31 अगस्त, 2020 लखनऊ ( मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। राज्यपाल ने अपने शोक संदेश में कहा है कि महान व्यक्तित्व एवं कृतित्व के धनी श्री प्रणब मुखर्जी को आर्थिक मामलों के विशेषज्ञ के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त थी। उन्होंने देश के 13वें राष्ट्रपति के रूप में अनेक ऐतिहासिक एवं नीतिगत निर्णय लिए। राज्यपाल ने कहा कि ऐसे महान व्यक्ति का निधन वास्तव में देश के आर्थिक एवं राजनैतिक क्षेत्र के लिए एक अपूरणीय क्षति है। आनंदीबेन पटेल ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोकाकुल परिजनों के प्रति गहरी संवेदना एवं सहानुभूति व्यक्त की है।

Image

प्रणव मुखर्जी का निधन, आर्मी अस्पताल में ली अंतिम सांस, ***************** सोमवार 31 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी (84) का सोमवार शाम को निधन हो गया। पूर्व राष्ट्रपति के पुत्र एवं पूर्व सांसद अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट करके यह जानकारी दी। वह 84 वर्ष के थे और कईं दिनों से सेना के आर एंड आर अस्पताल में भर्ती थे।उन्होंने कहा, भारी मन से आपको सूचित कर रहा हूं कि रिसर्च एंड रेफेरल अस्पताल के डॉक्टरों के सर्वश्रेष्ठ प्रयासों तथा देश भर के लोगों की प्रार्थनाओं एवं दुआओं के बावजूद मेरे पिता श्री प्रणव मुखर्जी का अभी कुछ क्षण पहले देहांत हो गया है। मुखर्जी ने कहा कि वह दोनों हाथ जोड़ कर लोगों काे धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। इससे पहले, प्रणब मुखर्जी का स्वास्थ्य और खराब हो गया था। अस्पताल ने बताया था कि उनके स्वास्थ्य में गिरावट दर्ज की गई क्योंकि उन्हें फेफड़े में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक लगा है। सेप्टिक शॉक एक ऐसी गंभीर स्थिति है, जिसमें रक्तचाप काम करना बंद कर देता है और शरीर के अंग पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने में विफल हो जाते हैं। बता दें प्रणब मुखर्जी को 10 अगस्त को दिल्ली कैंट स्थित सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मुखर्जी के मस्तिष्क में खून के थक्के जमने के बाद उनका ऑपरेशन किया गया था। अस्पताल में भर्ती कराए जाने के समय वह कोविड-19 से भी संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद उन्हें श्वास संबंधी संक्रमण हो गया था। मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति के रूप में वर्ष 2012 से 2017 तक पद पर रहे। पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी के परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

आपदा नियंत्रण केन्द्र ' राज्य स्तरीय कंट्रोल हेल्प लाइन नं0-1070 पर फोन कर सम्पर्क करें -राहत आयुक्त संजय गोयल *********************** सोमवार: 31 अगस्त, 2020 लखनऊ (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त संजय गोयल ने आज लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने समस्त जिला अधिकारियों को निर्देश दिये है कि बाढ़ राहत कार्याें को शीर्ष प्राथमिकता पर करने के साथ-साथ बाढ़ से कृषि फसलों को हुई क्षति का सर्वें तत्काल करा लिया जाए तथा जिन कृषकों की फसलें बाढ़ के कारण नष्ट हुई हैं, उनको शीघ्र कृषि निवेश अनुदान प्रदान किये जाने पर भी बल दिया। गोयल ने बाढ़ की स्थिति से अवगत कराते हुए बताया कि प्रदेश में वर्तमान में सभी तटबंध सुरक्षित है। बाढ़ के संबंध में निरन्तर अनुश्रवण का कार्य किया जा रहा है। कहीं भी किसी प्रकार की चिंताजनक परिस्थिति नहीं है। प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जनपदों मंे सर्च एवं रेस्क्यू हेतु एन0डी0आर0एफ0 की 12 टीमें तथा एस0डी0आर0एफ0 व पी0ए0सी0 की 17 टीमें इस प्रकार कुल 29 टीमें तैनाती की गयी है। 410 नावें बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगायी गयी है। बाढ़/अतिवृष्टि की आपदा से निपटने हेतु बचाव व राहत प्रबन्धन के सम्बन्ध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किये जा चुके है। गोयल ने बताया कि बाढ़ पीड़ित परिवारों को खाद्यान्न किट का वितरण कराया जा रहा है। इस किट में 17 प्रकार की सामग्री जिसमें 10 किलो आटा, 10 किलो चावल, 10 किलो आलू, 05 किलो लाई, 02 किलो भूना चना, 02 किलो अरहर की दाल, 500 ग्रा0 नमक, 250 ग्रा0 हल्दी, 250 ग्रा0 मिर्च, 250 ग्रा0 धनिया, 05 ली0 केरोसिन, 01 पैकेट मोमबत्ती, 01 पैकेट माचिस, 10 पैकेट बिस्कुट, 01 ली0 रिफाइन्ड तेल, 100 टेबलेट क्लोरीन एवं 02 नहाने के साबुन वितरित किये जा रहे है। उन्होंने बताया कि अब तक राहत सामग्री के अन्तर्गत 1,79,649 खाद्यान्न किट व 3,20,353 मी0 तिरपाल का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि 350 मेडिकल टीम लगायी गयी है। गोयल ने बताया कि बाढ की आपदा से निपटने के लिए प्रदेश में 373 बाढ़ शरणालय तथा 784 बाढ़ चैकियां स्थापित की गयी है। वर्तमान में प्रदेश के 16 जनपद (अम्बेडकरनगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बाराबंकी, बस्ती, देवरिया, फर्रूखाबाद, गोण्डा, गोरखपुर, कुशीनगर, लखीमपुरखीरी, मऊ, संतकबीरनगर, तथा सीतापुर) के 653 गांवों बाढ़ से प्रभावित है। शारदा नदी, पलिया कला (लखीमपुरखीरी), सरयू (घाघरा) नदी एल्गिनब्रिज (बाराबंकी), (अयोध्या) तथा तुर्तीपार (बलिया) में अपने खतरे के जलस्तर से ऊपर बह रही है। प्रदेश में 500 पशु शिविर स्थापित किये गये है तथा 7,34,274 पशुओं का टीकाकरण भी किया गया हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अब तक कुल 4764 कंुतल भूसा वितरित किया गया है। आपदा से निपटने के लिए जनपद एवं राज्य स्तर पर आपदा नियंत्रण केन्द्र की स्थापना की गयी है। उन्होंने कहा कि किसी को भी बाढ़ या अन्य आपदा के संबंध में कोई भी समस्या होती है तो वह जनपदीय आपदा नियंत्रण केन्द्र या राज्य स्तरीय कंट्रोल हेल्प लाइन नं0-1070 पर फोन कर सम्पर्क कर सकता है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

राष्ट्रीय नियुक्ति एजेंसी नया ‘गेम चेंजर’ साबित होगी: सिंह, ************************ सोमवार 31 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया)-प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि हाल ही सरकार द्वारा घोषित राष्ट्रीय नियुक्ति एजेंसी देश में नया ‘गेम चेंजर’ साबित होगी और इससे लोगों को रोजगार मिलने में मदद होगी। पूर्वोत्तर राज्यों के विकास मंत्री जितेंद्र सिंह ने आज यहां कोलकत्ता पीआईबी द्वारा आयोजित एक वेबिनार में भाग लेते हुए यह बात कही।उन्होंने कहा कि इस एजेंसी के जरिए गांव और शहरों में बेरोजगार लोगों को नौकरियां मिलेंगी और यह देश के भविष्य को बदलनेवाला साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस एजेंसी से नियुक्ति प्रणाली में बहुत बड़ा परिवर्तन हुआ है और और युवकों को रोजगार दिलाने में सहायक साबित होगा । रोजगार मिलने से युवकों की जीवन शैली में सुधार होगा तथा उन्हें नौकरी मिलने में आसानी होगी डॉ सिंह ने बताया कि इस एजेंसी से न केवल सरकारी क्षेत्र में सुधार होगा बल्कि सामाजिक आर्थिक सुधार भी लाएगा। सर्विस सिलेक्शनकमीशन के पूर्व अध्यक्ष ब्रज राज शर्मा ने कहां कि इस एजेंसी को लोगों की नौकरी और रोजगार के अवसर के रूप में देखा जाना चाहिए। स्टाफ सिलेक्शन कमीशन रेलवे नियुक्ति बोर्ड और बैंकिंग कर्मचारी नियुक्ति संस्थान समान योग्यता जांच से इसकी शुरुवात कर सकता है। देश के 117 आकांक्षी जिलों में इस एजेंसी के जरिये बलदेव लाने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि इन जिलों में महिलाओं दिव्यांगों और ग्रामीण इलाकों के लोगों पर विशेष ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है । रेलवे बोर्ड के पूर्व कार्यकारी निदेशक प्रेमपाल शर्मा ने इन आकांक्षी जिलों में परीक्षा आयोजित करने की चुनौतियों का जिक्र किया और कहा कि इसके लिए अधिक जागरूकता और लोगों को प्रेरित करने की आवश्यकता है ताकि इन जिलों में रोजगार के अवसर उपलब्ध हो तथा वे सामान्य योग्यता परीक्षा पास कर सकें। रेलवे मंत्रालय के औद्योगिक संबंध सलाहकार ए निगम पीआईबी रांची के अतिरिक्त महानिदेशक अरिमर्दन सिंह एवं अन्य ने संबोधित किया। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत और बिगड़ी, फेफड़ों में संक्रमण के कारण आया सेप्टिक शॉक,******************* सोमवार 31 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तबीयत और बिगड़ गई है। वह दिल्ली स्थित सेना के अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल की तरफ से बताया गया है कि उनके फेफड़ों में संक्रमण की वजह से वह सेप्टिक शॉक में हैं। प्रणब मुखर्जी की इस महीने ब्रेन सर्जरी हुई थी, जिसके बाद से वह कोमा में हैं अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया कि पूर्व राष्ट्रपति की सेहत में कल के मुकाबले गिरावट आई है। कल से उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ है। उनकी हालत लगातार बिगड़ रही है। बयान में कहा गया है कि मुखर्जी की विशेष टीम द्वारा निगरानी की जा रही है। वे लगातार गहरे कोमा में हैं और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। -बता दें कि बीते दिनों पूर्व राष्ट्रपति की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में भर्ती के दौरान की गई जांच में उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी। बाद में उनके फेफड़े में संक्रमण हो गया। अस्पताल की ओर से बताया गया था कि उनके गुर्दे भी ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। गौरतलब है कि प्रणब मुखर्जी साल 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे थे खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण पर लगाया 1 रुपये का जुर्माना, ************************* सोमवार 31 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया)- अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण पर 1 रुपये का जुर्माना लगाया है। जुर्माना नहीं देने पर उन्हें तीन महीने की सजा होगी और 3 साल तक के लिए वकालत पर रोक लग जाएगी। बताया जा रहा है कि भूषण आज शाम 4 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने आगे की रणनीति का खुलासा करेंगे। सोमवार को जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता में जस्टिस बी आर गवई और जस्टिस कृष्ण मुरारी की पीठ ने कहा कि भूषण ने अपने बयान को पब्लिसिटी दिलाई उसके बाद कोर्ट ने इस मामले पर संज्ञान लिया। कोर्ट ने फैसले में भूषण के कदम को सही नहीं माना। पीठ ने प्रशांत भूषण के ट्वीट के लिए माफी मांगने से इनकार करने का जिक्र करते हुए कहा, माफी मांगने में क्या गलत है? क्या यह शब्द इतना बुरा है? सुनवाई के दौरान पीठ ने भूषण को ट्वीट के संबंध में खेद व्यक्त नहीं करने के लिए अपने रुख पर विचार करने के लिए 30 मिनट का समय भी दिया था बताते चलें कि 25 अगस्त को जस्टिस अरुण मिश्रा, बीआर गवई और कृष्ण मुरारी ने प्रशांत माफी मांगने से इनकार करने के बाद उनकी सजा पर आदेश सुरक्षित रख लिया था। अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने भी सजा के खिलाफ तर्क दिया है। यह देखते हुए कि न्यायाधीश "स्वयं की रक्षा करने या समझाने के लिए प्रेस के पास नहीं जा सकते हैं," अदालत ने प्रशांत भूषण की प्रतिष्ठा का हवाला देते हुए कहा, "अगर इनकी जगह कोई और होता, तो इसे नजरअंदाज करना आसान होता।" खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

अच्छी खबर: 42 दिनों में तैयार हो सकती है ऑक्सफोर्ड की कोरोना वायरस , ******************** रविवार 30 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसकी संख्या में लगातार वृद्धि जारी है। इस बीच कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बड़ी खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि आने वाले कुछ सप्ताह में कोरोना वैक्सीन तैयार हो जाएगी। पूरी दुनिया को ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्सीन का इंतजार है। बताया जा रहा है कि वैक्सीन का ट्रायल आखिरी चरण में है। एक्सप्रेस डॉट सीओ डॉट यूके में छपी खबर के अनुसार ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन आज से सिर्फ 42 दिन बाद यानी 6 हफ्ते में तैयार हो सकती है। भारत में भी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के सहयोग से ही टीका विकसित किया जा रहा है।Coronavirus vaccine update: Bharat Biotech starts human trials; Russia successfully completes human testing रिपोर्ट के अनुसार वैज्ञानिकों की हरी झंडी का इंतजार है और लोगों को बहुत जल्द कोरोना का टीका उपलब्ध हो जाएंगी। दरअसल, ब्रिटेन, कोविड-19 के किसी भी कारगर टीके को लाइसेंस प्राप्त होने से पहले उसके आपात उपयोग की अनुमति देने के लिये संबद्ध नियमों में बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। हालांकि, ऐसे किसी टीके के सुरक्षा एवं गुणवत्ता मानदंडों पर खरा उतरने के बाद ही इस तरह के उपयोग की अनुमति दी जाएगी।Oxford says coronavirus vaccine could be ready by September - CBS Newsप्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने नेतृत्व वाली कंजरवेटिव सरकार ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि वह सुरक्षा एवं गुणवत्ता मानदंडों पर खरा उतरने वाले कोविड-19 के किसी भी टीके को अस्थायी रूप से अधिकृत करने की देश की औषधि नियामक एजेंसी को अनुमति देने को लेकर संशोधित सुरक्षा नियमों को अपना रही है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

28 बंदियों समेत 49 कोरोना संक्रमित मिले,संख्या 2255:हुई:: बुलंदशहर ***************रविवार 30 अगस्त2020 | बुलंदशहर (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में रविवार को जिला कारागार में 28 बंदियों सहित 49 और कोरोना संक्रमितों के मिलने के बाद जिले में इनकी संख्या बढ़कर 2255 हो गई।स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता डॉ गौरव सक्सेना ने बताया की आज प्राप्त जांच रिपोर्ट में 49 और संक्रमितों की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि बुलंदशहर जिला कारावास में 28 कैदी संक्रमित मिले हैं। इनके अलावा अम्बा कॉलोनी में तीन और मोहल्ला राधा नगर विजय नगर व साठा में दो-दो। उन्होंने बताया कि कुल मिलाकर 39 संक्रमित बुलंदशहर सदर इलाके से संक्रमित मिले हैं। कस्बा खुर्जा में पांच, शिकारपुर में तीन और जहांगीराबाद में एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए इन सभी को कोविड-19 जेपी हॉस्पिटल चिट्टा मुकीमपुर भर्ती करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि 18 लोग और स्वास्थ्य होने पर आज अपने घर चले गए। जिले में अभी तक 1850 संक्रमित उपचार के बाद ठीक हो चुके हैं जबकि 49 की मृत्यु हो गई है। अभी भी 259 कोरोना एक्टिव हैं ,जिनका उपचार जारी है। गौरतलब है कि बुलंदशहर जिला कारावास में अब तक 175 बंदी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं तथा निरंतर बढ़ रहे संक्रमित बंदियों की संख्या जिला प्रशासन के लिए चिंता सबब बना हुआ है खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

प्रयागराज में गंगा और यमुना के जलस्तर में वृद्धि ,*********************** रविवार 30 अगस्त 2020 | प्रयागराज (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश की संगमनगरी प्रयागराज में गंगा और यमुना नदियों के जलस्तर पर निरंतर बढ़ोत्तरी से तटवर्ती क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा गहराने लगा है। पिछले 24 घंटे के दौरान गंगा में 11 सेमी और यमुना में 12 सेमी की वृद्धि हुई है। दोनो नदियों के जल स्तर में पिछले एक सप्ताह से लगातार बढोत्तरी जारी है। जिला प्रशासन ने बाढ़ से निपटने की तैयारी पूरी कर ली है। गंगा फाफामऊ और छतनाग में चार घंटे में एक सेंटीमीटर जबकि यमुना हर घंटे एक सेंटीमीटर की रफ्तार से बढ़ रही है। गंगा और यमुना के खतरे का निशान 84.73 मीटर से अभी काफी नीचे बह रही हैं। एनडीआरएफ की टीम पिछले एक पखवारे से जिले के संभावित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर स्थिति का जायजा ले रही है।कोरोना का संकट झेल रहे लोगों की परेशानी अब बाढ़ के चलते और भी बढ़ने वाली है। दोनो नदियों के तटवर्ती इलाकों दारागंज, सलोरी , छोटा बाघडा आदि क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की सबसे अधिक समस्या है। जैसे जैसे जलस्तर बढ़ रहा है तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में अपनी सुरक्षा को लेकर परेशानी बढ़ रही है। जिला प्रशासन गाांव से शहर तक बाढ़ से लोगों को बचाने के लिए सभी तैयारियाें को युद्धस्तर पर शुरू कर दिया है। बाढ़ नियंत्रण कक्ष द्वारा प्राप्त आंकडों के अनुसार रविवार को 12 बजे गंगा का जल स्तर फाफामऊ में 80.30 मीटर, छतनाग 79.23 मीटर और यमुना 79.81 मीटर दर्ज किया गया है। जबकि शनिवार को इसी समय फाफामऊ में 80.24 मीटर, छतनाग 79.12 मीटर और यमुना 79.69 मीटर दर्ज किया था। शनिवार की तुलना में रविवार को फाफामऊ में गंगा के जलस्तर में छह सेंटीमीटर, छतनाग में 11 सेंटीमीटर और नैनी में यमुना 12 सेंटीमीटर वृद्धि रिकार्ड की गयी है।उन्होने बताया कि गंगा फाफामऊ और छतनाग में एक सेंटीमीटर प्रति चार घंटे में बढ़ रही हैं जबकि यमुना प्रति घंटे एक सेंटीमीटर बढ़ रही है। गंगा-यमुना का जलस्तर बढ़ने की गति पहले से धीमी हो गयी है। जलस्तर बढने से संगम क्षेत्र में तीर्थ पुरोहित और फुटकर दुकानदार अपना सामान हटाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचने लगे हैं। जल पुलिस प्रभारी कड़ेदीन यादव ने बताया कि 81.04 मीटर जलस्तर पहुंचने पर गंगा बंधवा पर लेटे हनुमत लला को स्नान करायेंगी। उन्होने बताया कि हनुमान मंदिर के पास स्थित पार्क के निकट सड़क पर अभी पानी है। अक्षय वट जाने वाले मार्ग पर पान आ जाने के कारण आवागमन बंद कर दिया गया है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

कोरोना संक्रम‍ित सपा नेता ने की आत्‍महत्‍या,****************** रविवार 30 अगस्त 2020 | बरेली (मानवी मीडिया): कोरोना संक्रम‍ित होने के बाद बरेली के एसआरएमएस मेडिकल कालेज से भागे सपा नेता रमन जौहरी ने दिल्ली लखनऊ नेशनल हाईवे पर ओवरब्र‍िज से कूदकर आत्‍महत्‍या कर ली। पुलिस सूत्रों ने बताया कि सपा नेता रमन शनिवार को देर शाम अस्‍पताल के कोव‍िड वार्ड से बाहर न‍िकले और दिल्ली बरेली-नैनीताल हाइवे पर स्‍थ‍ित पुल से छलांग लगा दी। रविवार पूर्वाह्न में पुल के नीचे पड़े म‍िले रमन को डायल 100 की टीम ज‍िला अस्‍पताल ले गई, जहां उनको मृत घोष‍ित कर द‍िया गया।थाना प्रभारी भोजीपुरा मनोज त्‍यागी ने बताया क‍ि रात साढ़े 12 बजे के करीब एसआरएम अस्‍पताल से थाने में जानकारी दी गई क‍ि एक कोरोना पॉज‍िट‍िव मरीज अस्‍पताल से भाग गया है। इसके बाद पर‍िवारवाले रमन जौहरी की गुमशुदगी लेकर थाने आए। कोरोना संक्रम‍ित रमन जौहरी अस्‍पताल की ख‍िड़की कांच तोड़कर रात साढ़े आठ बजे अस्‍पताल से बाहर आए थे। क‍िसी राहगीर ने आज डायल 100 की टीम को पुल से नीचे एक व्‍यक्‍त‍ि के पड़े होने की जानकारी दी थी। पुल‍िस की गश्‍ती टीम ने उनको ज‍िला अस्‍पताल पहुंचाया, जहां उनकी मौत हो गई। सपा नेता के करीबी म‍ित्रों ने बताया क‍ि शन‍िवार देर शाम रमन ने पर‍िवार के एक सदस्‍य को फोन क‍िया था और बोला था कि वह अस्‍पताल से न‍िकल रहे हैं। जब तक पर‍िवार वाले अस्‍पताल पहुंचते, उससे पहले ही रमन जौहरी ने बरेली-नैनीताल हाइवे पर एसआरएमएस अस्‍पताल से कुछ ही दूरी पर स्‍थ‍ित ओवरब्र‍िज से छलांग लगा दी। भोजीपुरा पुल‍िस के मुताब‍िक, डायल 112 की गश्‍ती टीम को रमन भोजीपुरा स्‍टेशन से पहले दक्ष‍िण केब‍िन के सामने लहूलुहान हालत में पड़े म‍िले थे।सपा के वरिष्ठ नेता के पूर्व मंत्री भगवत सरन गंगवार ने बताया कि रमन जौहरी बरेली में कोहाड़ापीर के पास रहते थे। वह समाजवादी पार्टी में महानगर सच‍िव रहे थे। समाजवादी युवजन सभा के महानगर बरेली अध्‍यक्ष समेत कई अन्‍य पदों की ज‍िम्‍मेदारी भी संभाल चुके थे। कुछ द‍िन पहले रमन को बुखार आया था। दवा लेने के बाद भी बुखार नहीं उतरा तो उन्‍होंने कोव‍िड जांच कराई। 25 अगस्‍त को आई जांच र‍िपोर्ट में वह कोरोना पॉज‍िट‍िव पाए गए थे। वह एसआरएमएस मेडिकल कालेज के अस्‍पताल में भर्ती हो गए थे। अस्‍पताल के कोव‍िड वार्ड में उनका इलाज चल रहा था। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

भाजपा लैपटॉप देने का वायदा नहीं पूरा किया :::सपा का आरोप************************ रविवार 30 अगस्त2020 | लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्षी समाजवादी ने आज कहा कि राज्य में 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने मेधावी छात्र छात्राओं को लैपटॉप देने का वायदा किया था जो आज तक नहीं निभाया। राज्य में सरकार बने साढ़े तीन साल हो गये हैं और अगला विधानसभा चुनाव होने में सिर्फ डेढ़ साल बाकी है ।ऐसा नहीं लगता कि राज्य की योगी आदित्यनाथ की सरकार अपना वायदा पूरा कर पायेगी।समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा में शीर्ष रैंक प्राप्त 50-50 मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटाप देने का जो वादा किया गया था उसे निभाया गया है। उसी घोषणा के फलस्वरूप समाजवादी पार्टी की ओर से पिछले 24 अगस्त से श्रेष्ठता प्राप्त 96 छात्र-छात्राओं को लैपटाप बांटे गए है। यादव के निर्देश पर जिलाध्यक्षों, सदस्य विधान सभा एवं सदस्य विधान परिषद की ओर से श्रेष्ठता प्राप्त छात्रों-छात्राओं के निवास तक जाकर लैपटाप दिए गए हैं। साथ ही उनके माता-पिता को भी सम्मानित किया है। सपा की कथनी और करनी में अंतर नहीं है। सपा अध्यक्ष ने उम्मीद जताई है कि लैपटॉप के जरिये वे देश-दुनिया की नई जानकारियां हासिल कर सकेंगे और अपनी प्रगति के नए रास्ते खोजने में सफल होंगे। समाजवादी सरकार के कार्यकाल में छात्र-छात्राओं और युवाओं की बेहतरी के लिए अनेक कदम उठाए गए थे। लेकिन आज तक भाजपा सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा था कि काॅलेज में दाखिला लेने पर प्रदेश के सभी युवाओं को बिना जाति और धर्म के भेदभाव के मुफ्त लैपटाप दिया जाएगा। राज्य के सभी युवाओं को कालेज में दाखिला लेने पर स्वामी विवेकानन्द युवा इंटरनेट योजना के अंतर्गत प्रतिमाह एक जीबी इंटरनेट मुफ्त देने का भी वादा अपने कथित लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 में किया था। जनता हर वादे की भाजपा से जवाबदेही लेगी। खबरों को देखने के लिए 👇👇👇👇

Image

भाजपा लैपटॉप देने का वायदा नहीं पूरा किया :::सपा का आरोप************************ रविवार 30 अगस्त2020 | लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्षी समाजवादी ने आज कहा कि राज्य में 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने मेधावी छात्र छात्राओं को लैपटॉप देने का वायदा किया था जो आज तक नहीं निभाया। राज्य में सरकार बने साढ़े तीन साल हो गये हैं और अगला विधानसभा चुनाव होने में सिर्फ डेढ़ साल बाकी है ।ऐसा नहीं लगता कि राज्य की योगी आदित्यनाथ की सरकार अपना वायदा पूरा कर पायेगी।समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा में शीर्ष रैंक प्राप्त 50-50 मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटाप देने का जो वादा किया गया था उसे निभाया गया है। उसी घोषणा के फलस्वरूप समाजवादी पार्टी की ओर से पिछले 24 अगस्त से श्रेष्ठता प्राप्त 96 छात्र-छात्राओं को लैपटाप बांटे गए है। यादव के निर्देश पर जिलाध्यक्षों, सदस्य विधान सभा एवं सदस्य विधान परिषद की ओर से श्रेष्ठता प्राप्त छात्रों-छात्राओं के निवास तक जाकर लैपटाप दिए गए हैं। साथ ही उनके माता-पिता को भी सम्मानित किया है। सपा की कथनी और करनी में अंतर नहीं है। सपा अध्यक्ष ने उम्मीद जताई है कि लैपटॉप के जरिये वे देश-दुनिया की नई जानकारियां हासिल कर सकेंगे और अपनी प्रगति के नए रास्ते खोजने में सफल होंगे। समाजवादी सरकार के कार्यकाल में छात्र-छात्राओं और युवाओं की बेहतरी के लिए अनेक कदम उठाए गए थे। लेकिन आज तक भाजपा सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा था कि काॅलेज में दाखिला लेने पर प्रदेश के सभी युवाओं को बिना जाति और धर्म के भेदभाव के मुफ्त लैपटाप दिया जाएगा। राज्य के सभी युवाओं को कालेज में दाखिला लेने पर स्वामी विवेकानन्द युवा इंटरनेट योजना के अंतर्गत प्रतिमाह एक जीबी इंटरनेट मुफ्त देने का भी वादा अपने कथित लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 में किया था। जनता हर वादे की भाजपा से जवाबदेही लेगी। खबरों को देखने के लिए 👇👇👇👇

Image

राष्ट्रपति भवन के पास घूमती रही निर्वस्त्र महिला, भीड़ खींचती रही फोटो हाई सिक्योरिटी इलाके में ,******************* रविवार 30 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): दिल्ली के हाई सिक्योरिटी इलाके में राष्ट्रपति भवन के पास मानसिक रोगी एक महिला निर्वस्त्र घूमती दिखाई दी। इसकी सूचना मिलने के बाद दिल्ली महिला आयोग की टीम मौके पर पहुंची और महिला को कपड़े पहनाकर वहां से पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने ले गई। लड़की के पास एक स्कूल बैग था, जिसमें कुछ किताबें और उसका आधार कार्ड था। आधार कार्ड से पता लगा कि महिला कंझावला इलाके की रहने वाली है। हैरान करने वाली बात यह है कि लोग वहां खड़े हो उसे देखकर हंस रहे थे, उसकी फोटो वीडियो बना रहे थे। पास में ही रिपोर्टिंग कर रहे एक मीडियाकर्मी ने जब यह देखा तो तत्काल दिल्ली महिला आयोग को कॉल कर इसकी सूचना दी। जिसके बाद टीम मौके पर पहुंच कर महिला को अपने साथ ले गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना शुक्रवार शाम की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, लड़की की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी, इसलिए वह कुछ ज्यादा बता नहीं पा रही थी। हालांकि उससे बात करने पर उसने बताया कि उसके 2 बच्चे हैं। पीड़िता के घर पहुंचकर टीम ने पाया कि उस पते पर उसके बच्चे उसकी जेठानी के साथ रह रहे हैं। उसके पति की मृत्यु के बाद उसकी जेठानी ने बच्चों की जिम्मेदारी ले ली थी। पति की मृत्यु के बाद से ही पीड़िता का मानसिक स्वास्थ्य खराब हो गया था और वह घर छोड़कर चली गई थी। महिला के परिजनों ने उसकी जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया, जिसके बाद टीम पीड़िता को मानसिक रोगियों के अस्पताल IHBAS लेकर पहुंची। अस्पताल की ओर से कोर्ट का आदेश लाने को कहा गया। महिला आयोग की टीम पीड़िता को लेकर वापस थाने आई और उसे मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। कोर्ट के आदेश के बाद महिला को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल कहा, दुख होता है, जब लोग किसी मानसिक रोगी के साथ इस तरह का व्यवहार करते हैं। उन्होंने कहा कि महिला अब सुरक्षित है और उसका इलाज करवाया जा रहा है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

कोरोना के बावजूद ग्रेटर नोएडा में कर रहे थे रेव पार्टी, 4 युवतियों समेत 11 विदेशी लोग गिरफ्तार,******************** रविवार 30 अगस्त 2020 | ग्रेटर नोएडा (मानवी मीडिया): यूपी के ग्रेटर नोएडा में कोरोना काल के बावजूद रेव पार्टी कर रहे सात विदेशी पुरुष और 4 विदेशी मूल की युवतियों समेत 11 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से 300 बोतल विदेशी ब्रांड की बीयर और शराब बरामद की गई है। मामला सूरजपुर थाना क्षेत्र का है। रात के समय ये लोग बिना परमिशन के पार्टी कर रहे थे।शनिवार देर रात पुलिस ने छापा मारकर रेव पार्टी करने वाले विदेशी मूल के नागरिकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को सूचना मिली थी कुछ लोग बिना परमिशन के रेव पार्टी का आयोजन कर रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस फौरन रात के समय मौके पर पहुंच गई। हैरान करने वाली बात ये है कि कोरोना काल में विदेशी लोग पार्टी कर रहे थे, जिसकी भनक पुलिस नहीं लगी। स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने विदेशी नागरिकों को शराब के साथ गिरफ्तार कर लिया।(प्रतीकात्मक फोटो)जानकारी देते हुए डीएसपी हरीश चन्दर ने बताया कि जनपद में धारा 144 लागू होने के बावजूद ये विदेशी मूल के नागरिक रेव पार्टी कर रहे थे। तभी सूचना पर पंहुची पुलिस ने इन सभी 4 युवतियों के साथ 11 युवकों को पार्टी करते हुए गिरफ्तार किया है। इनके पास से करीब 300 बोतल विदेशी ब्रांड की बीयर और अंग्रेजी शराब सहित 7 लक्जरी गाड़ियां बरामद की है। डीएसपी के मुताबिक आगे की विधिक कार्रवाई की जा रही है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

दुनिया के सबसे ज्यादा अमीरों में शुमार इस भारतीय पर भी कोरोना की मार, पढ़ें आखिर क्यों बेचनी पड़ी करोडो की कंपनी,************************* रविवार 30 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया)-हजारों करोड़ रुपए के कर्ज में डूबी और दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गए फ्यूचर ग्रुप को रिलायंस रिटेल ने खरीदकर कोरोना के इस संकटकाल में हजारों कर्मचारियों की आजीविका छिनने से बचाई है। मुकेश अंबानी की रिलायंस रिटेल ने शनिवार को 24,713 करोड़ में फ्यूचर ग्रुप का अधिग्रहण कर लिया। फ्यूचर ग्रुप में बिग बाजार, ईजीडे जैसी श्रृंखला में हजारों लोग की रोजी-रोटी जुड़ी थी। इसके अलावा किशोर बियानी के इस खुदरा कारोबार की आपूर्ति श्रंखला से भी हजारों लोगों का रोजगार अप्रत्यक्ष रुप से जुड़ा है। कर्ज नहीं चुका पाने की हालात में कंपनी पर ताला लगने की आशंका दिनोंदिन गहराती जा रही थी।बिक गया बिग बाजार 26 साल की उम्र में फ्यूचर ग्रुप के संस्थापक किशोर बियानी ने पहला स्टोर पैंटालून के नाम से खोला था, तब किसी ने नही सोचा था कि किशोर बियानी को खुदरा क्षेत्र के ''धर्म पिता'' के रुप में पहचान बना लेने के 33 वर्ष बाद उनका यह साम्राज्य कर्ज के इतने बड़े बोझ के नीचे दबकर और उस ऋण का ब्याज चुकाने में भी असमर्थ हो जाएगा। कंपनी भुगतान में चूक करने लगी थी। फ्यूचर ग्रुप पर कर्ज का संकट इतना विकट था कि उसे इस बात से समझा जा सकता है कि कंपनी को विदेशी बॉंड्स पर ही 100 करोड़ के ब्याज की अदायगी करनी थी जिसे कंपनी छूट अवधि खत्म होने के आखिरी दिन ही चुका सकी थी। कोरोना ने कंपनी की वित्तीय हालत को और खस्ताहाल कर दिया था। लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर स्टोर्स को बंद करना पड़ा। फ्यूचर ग्रुप के सभी तरह के स्टोर्स की संख्या 1650 से भी अधिक है और हजारों जहां प्रत्यक्ष रुप से रोजगार मिला था वहीं लाखों लोगों की आजीविका इससे अप्रत्यक्ष रूप से भी जुड़ी थी। साल 2019 में फोर्ब्स की लिस्ट में किशोर बियानी 80वें नंबर के सबसे अमीर बिजनेसमैन थे, लेकिन अब कर्ज उतारने के लिए उन्होंने अपना बड़ा कारोबार रिलायंस रिटेल एंड फैशन लाइफस्टाइल लिमिटेड (RRFLL) को 24713 करोड़ रुपये में बेच दिया है। इस डील के साथ ही किशोर बियानी के ऊपर रिटेल किंग का तमगा भी हट जाएगा। किशोर बियानी ने मुंबई के एच. आर कॉलेज के छात्र रहे हैं। उनकी यात्रा मुंबई में 1980 में स्टोन वॉश डेनिम फैब्रिक की बिक्री से शुरू हुई थी। किशोर बियानी का सपना हर किसी तक अपने खुद के लेबल के प्रोडक्ट को पहुंचाना था, और कुछ हदतक वो इसमें सफल भी रहे। कोलकाता से 26 साल की उम्र में पैंटालून से शुरुआत करने वाले बियानी ने 59 साल की उम्र में अब सारा कारोबार रिलायंस के हाथों बेच दिया। बिग बाजार का बिजनस इकोसिस्टम बना रहेगा (File Photo) कर्ज बढ़ने से कंपनी के डूबने के खतरे के बीच कर्मचारियों को भी अपनी नौकरी की चिंता सता रही थी। रिलायंस रिटेल के निवेश ने कंपनी को उसके दुर्दिनों से उबार लिया है। सवाल यह है कि अधिग्रहण के बाद फ्यूचर ग्रुप के बिग बाजार और अन्य ब्रांड्स का क्या होगा, क्या उनका नाम भी बदल दिया जाएगा, तो इसका जवाब खुद रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की निदेशक ईशा अंबानी ने दिया है। सौदे पर खुशी जाहिर करते हुए ईशा अंबानी ने कहा, “फ्यूचर ग्रुप के प्रसिद्ध ब्रांडों के साथ-साथ उसके व्यावसायिक ईको सिस्टम को संरक्षित करने में हमें प्रसन्नता होगी। भारत में आधुनिक रिटेल के विकास में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। हमें आशा है कि छोटे व्यापारियों, किराना स्टोर्स और बड़े उपभोक्ता ब्रांडों की सहभागिता के दम पर खुदरा क्षेत्र में विकास की गति बनी रहेगी, हम देश भर में अपने उपभोक्ताओं को बेहतर मूल्य प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।” शहरी उभोक्ताओं के लिए बिग बाजार वर्षों से रोजमर्रा के सामान की पूर्ति का केंद्र रहा है। बिग बाजार सरीखी श्रंखला में रिलायंस रिटेल का पेशेवर रवैया जरूर देखने को मिल सकता है पर ईशा अंबानी के बयान के बाद यह तो तय है कि रिलायंस बिग बाजार की रीब्रांडिंग नहीं करने जा रहा इसलिए उपभोक्ताओं के लिए बिग बाजार में कुछ भी नहीं बदलेगा। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

सुशांत के बैंक खाते से हुआ 70 करोड़ का टर्नओवर, रिया के खाते में नहीं भेजी कोई भी रकम, ************************** रविवार 30 अगस्त 2020 | नई दिल्‍ली (मानवी मीडिया): सुशांत सिंह राजपूत केस में सीबीआई (CBI), प्रवर्तन निदेशालय (ED) और एनसीबी ने अपनी जांच तेज कर दी है। एजेंसियां सुशांत से जुड़े सभी लोगों से पूछताछ कर रही हैं। इस बीच सुशांत सिंह राजपूत के बैंक खातों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। ये खुलासा सुशांत के बैं‍क खातों की फॉरेंसिक ऑडिट रिपोर्ट में हुआ है। इसे मुंबई पुलिस ने कराया है।: सुशांत सिंह मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए पॉलीग्राफ टेस्ट करवा सकती है सुशांत ने अलग-अलग बैंकों में 5-7 करोड़ की एफडी और करोड़ों की रकम म्यूचुअल फंड्स में भी निवेश की है, जबकि सुशांत ने इन 5 सालों में 5 करोड़ का टैक्स भी भरा है। सुशांत सिंह राजपूत ने करोड़ों रुपये अपने मैनेजमेंट, स्टाफ, घूमने-फिरने और घर खर्च के लिए इस्तेमाल किए। इतना ही नहीं, सुशांत ने 3-4 करोड़ रुपये अपने घर के किराए पर खर्च किए हैं। मुंबई पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत के बैंक खातों का फॉरेंसिक ऑडिट कराया था।सुशांत के बैंक खातों के पांच साल के ऑडिट रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि सुशांत के बैंक खातों में पिछले पांच सालों में 70 करोड़ रुपये का टर्न ओवर हुआ और उनमें से खर्च भी हुए। सुशांत ने कमाए 70 करोड़ में से मुंबई में एक फ्लैट, महंगी गाड़ियां और बाइक खरीदने में खर्च किया। ग्रांट थॉर्नटन नाम की कंपनी द्वारा किए गए ऑडिट की रिपोर्ट के अनुसार सुशांत के अकाउंट से रिया के अकांउट में कोई इलेक्ट्रॉनिक ट्रांजेक्शन नहीं हुआ अब ईडी इस बात की अभी जानकारी ले रही है कि रिया और उसके परिवार पर सुशांत में कितने खर्च किए या पैसे दिए। ईडी को शक है कि सुशांत ने बड़ी रकम रिया और उसके परिवार पर खर्च की है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

मन की बात में बोले प्रधानमंत्री मोदी- 'अब सभी को , पढ़ें पूरा संबोधन, ****************** रविवार 30 अगस्त2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 68वें संस्करण में रविवार देशवासियों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने सबसे पहले देशवासियों को गणेशोत्सव की शुभकामनाएं दीं। प्रधानमंत्री ने कहा, 'ओणम एक अंतरराष्ट्रीय त्योहार बनता जा रहा है। यह हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए सही समय होता है। हमारे अन्नदाता को हमारा नमन। हमारे किसानों ने कोरोना के इस कठिन समय में भी अपनी काबिलियत को साबित किया है। अन्नानां पतये नमः, क्षेत्राणाम पतये नमः, अर्थात, अन्नदाता को नमन है, किसान को नमन है।' प्रधानमंत्री ने कहा कि इस समय देश में सादगी के साथ कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में देश एक साथ कई मोर्चों पर लड़ रहा है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने खिलौनों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अब सभी के लिए लोकल खिलौनों के लिए वोकल होने का समय है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में नागरिकों में अपने दायित्वों का अहसास है। कोरोना के चलते लोग अनुशासन बरत रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना काल में हर तरह के उत्सवों में लोग संयम बरत रहे हैं।मन की बात में बोले PM मोदी: खिलौनों के लिए अब वोकल होने का वक्त आ गया प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में स्वदेशी गेम बनाने की अपील करते हुए कहा कि खिलौना उद्योग में भारत की भागीदारी बढ़नी चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि आत्मविश्वास के साथ भारत को आत्मनिर्भर बनाना है। भारत के भी और भारत में भी कम्प्यूटर गेम बनने चाहिए। कम्प्यूटर गेम में भारत की थीम होनी चाहिए।पीएम मोदी ने कहा, 'हमारे देश में इस बार खरीफ की फसल की बुआई पिछले साल के मुकाबले 7 प्रतिशत ज्यादा हुई है। मैं, इसके लिए देश के किसानों को बधाई देता हूँ, उनके परिश्रम को नमन करता हूँ। बरना की शुरुआत में भव्य तरीके से हमारे आदिवासी भाई-बहन पूजा-पाठ करते हैं और उसकी समाप्ति पर आदिवासी परम्परा के गीत, संगीत, नृत्य जमकर के उसके कार्यक्रम भी होते हैं। बिहार के पश्चिमी चंपारण में, सदियों से थारु आदिवासी समाज के लोग 60 घंटे के लॉकडाउन या उनके ही शब्दों में कहें तो '60 घंटे के बरना' का पालन करते हैं। प्रकृति की रक्षा के लिये बरना को थारु समाज ने अपनी परंपरा का हिस्सा बना लिया है और सदियों से बनाया है।'पीएम मोदी ने कहा, 'मेरे प्यारे देशवासियों, कोरोना के इस कालखंड में देश कई मोर्चों पर एक साथ लड़ रहा है, लेकिन इसके साथ-साथ, कई बार मन में ये भी सवाल आता रहा कि इतने लम्बे समय तक घरों में रहने के कारण, मेरे छोटे-छोटे बाल-मित्रों का समय कैसे बीतता होगा और इसी से मैंने गांधीनगर की चिल्ड्रन यूनिवर्सिटी जो दुनिया में एक अलग तरह का प्रयोग है, भारत सरकार के अन्य मंत्रालयों के साथ मिलकर, हम बच्चों के लिए क्या कर सकते हैं, इस पर मंथन किया, चिंतन किया।'मन की बात: 'अब सभी के लिये लोकल खिलौनों के लिये वोकल होने का समय है'उन्होंने आगे कहा, 'साथियों, हमारे चिंतन का विषय था- खिलौने और विशेषकर भारतीय खिलौने। हमने इस बात पर मंथन किया कि भारत के बच्चों को नए-नए Toys कैसे मिलें, भारत, खिलौने का उत्पाद का बहुत बड़ा क्षेत्र कैसे बने। वैसे मैं ‘मन की बात' सुन रहे बच्चों के माता-पिता से क्षमा माँगता हूँ, क्योंकि हो सकता है, उन्हें, अब, ये ‘मन की बात' सुनने के बाद खिलौनों की नयी-नयी मांग सुनने का शायद एक नया काम सामने आ जाएगा। साथियों, खिलौने जहां activity को बढ़ाने वाले होते हैं, तो खिलौने हमारी आकांक्षाओं को भी उड़ान देते हैं। खिलौने केवल मन ही नहीं बहलाते, खिलौने मन बनाते भी हैं और मकसद गढ़ते भी हैं।'पीएम मोदी ने कहा, 'मैंने कहीं पढ़ा कि खिलौनों के सम्बन्ध में गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर ने कहा था कि अच्छा Toy वो होता है । ऐसा खिलौना, जो अधूरा हो, और, बच्चे मिलकर खेल-खेल में उसे पूरा करें। एक तरह से बाकी बच्चों से भेद का भाव उसके मन में बैठ गया। महंगे खिलौने में बनाने के लिये भी कुछ नहीं था, सीखने के लिये भी कुछ नहीं था. यानी कि, एक आकर्षक खिलौने ने एक उत्कृष्ठ बच्चे को कहीं दबा दिया, छिपा दिया, मुरझा दिया। इस खिलौने ने धन का, सम्पत्ति का, जरा बड़प्पन का प्रदर्शन कर लिया लेकिन उस बच्चे की Creative Sprit को बढ़ने और संवरने से रोक दिया। खिलौना तो आ गया, पर खेल ख़त्म हो गया और बच्चे का खिलना भी खो गया।'उन्होंने आगे कहा, 'अब सभी के लिये लोकल खिलौनों के लिये वोकल होने का समय है। आइए, हम अपने युवाओं के लिये कुछ नए प्रकार के, अच्छी गुणवत्ता वाले, खिलौने बनाते हैं। खिलौना वो हो जिसकी मौजूदगी में बचपन खिले भी, खिलखिलाए भी। हम ऐसे खिलौने बनाएं, जो पर्यावरण के भी अनुकूल हों। हमारे देश में इतने विचार हैं, , बहुत समृद्ध हमारा इतिहास रहा है। क्या हम उन पर खेल बना सकते हैं। मैं देश के युवा बुद्धिजीवीयो से कहता हूँ, आप, भारत में भी गेम्स बनाइये,। कहा भी जाता है - Let the games begin ! तो चलो, खेल शुरू करते हैं।'मोदी उन्होंने आगे कहा, 'जब आज से सौ वर्ष पहले, असहयोग आंदोलन शुरू हुआ, तो गांधी ने लिखा था कि – “असहयोग आन्दोलन, देशवासियों में आत्मसम्मान और अपनी शक्ति का बोध कराने का एक प्रयास है। आज, जब हम देश को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास कर रहे हैं, तो, हमें, पूरे आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ना है, हर क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाना है। असहयोग आंदोलन के रूप में जो बीज बोया गया था, उसे अब आत्मनिर्भर भारत के वट वृक्ष में परिवर्तित करना हम सबका दायित्व है। मेरे प्यारे देशवासियों, भारतीयों के आमंत्रण और solution देने की क्षमता का लोहा हर कोई मानता है और जब समर्पण भाव हो, संवेदना हो तो ये शक्ति असीम बन जाती है।'उन्होंने आगे कहा, 'इस महीने की शुरुआत में, देश के युवाओं के सामने, एक app innovation challenge रखा गया। इस आत्मनिर्भर भारत app innovation challenge में हमारे युवाओं ने बढ़-चढ़कर के हिस्सा लिया. करीब 7 हजार entries आईं, उसमें भी, करीब-करीब दो तिहाई apps tier two और tier three शहरों के युवाओं ने बनाए हैं। ये आत्मनिर्भर भारत के लिए, देश के भविष्य के लिए, बहुत ही शुभ संकेत है। आत्मनिर्भर app innovation challenge के परिणाम देखकर आप ज़रूर प्रभावित होंगे। काफी जाँच-परख के बाद, अलग-अलग category में, लगभग दो दर्जन Apps को पुरस्कार भी दिए गये हैं। आप जरुर इन Apps के बारे में जाने और उनसे जुड़ें। हो सकता है आप भी ऐसा कुछ बनाने के लिए प्रेरित हो जायें।'प्रधानमंत्री ने कहा, 'इनमें एक App है, कुटुकी kids learning app. ये छोटे बच्चों के लिए ऐसा interactive app है, जिसमें गानों और कहानियों के जरिए बात-बात में ही बच्चे math science में बहुत कुछ सीख सकते हैं। इसमें activities भी हैं, खेल भी हैं। इसी तरह एक micro blogging platform का भी app है। इसका नाम है कू - KOO। इसमें, हम, अपनी मातृभाषा में text, video और audio के जरिए अपनी बात रख सकते हैं, interact कर सकते हैं। एक app है Ask सरकार। इसमें chat boat के जरिए आप interact कर सकते हैं और किसी भी सरकारी योजना के बारे में सही जानकारी हासिल कर सकते हैं, वो भी text, audio और video तीनों तरीकों से। ये आपकी बड़ी मदद कर सकता है।'PM ने कहा, 'एक और app है, step set go. ये fitness App है. आप कितना चले, कितनी calories burn की, ये सारा हिसाब ये app रखता है, और आपको fit रहने के लिये motivate भी करता है. आप भी आगे आएं, कुछ innovate करें, कुछ implement करें. आपके प्रयास, आज के छोटे-छोटे start-ups, कल बड़ी-बड़ी कंपनियों में बदलेंगे और दुनिया में भारत की पहचान बनेंगे. और आप ये मत भूलिये कि आज जो दुनिया में बहुत बड़ी-बड़ी कम्पनियाँ नज़र आती हैं ना, ये भी, कभी, startup हुआ करती थी. पूरे देश में सितम्बर महीने को पोषण माह - Nutrition Month के रूप में मनाया जाएगा. आइये, पोषण माह में पौष्टिक खाने और स्वस्थ रहने के लिए हम सभी को प्रेरित करें.'PM मोदी ने आगे कहा, 'ये खबर है हमारे सुरक्षाबलों के दो जांबाज किरदारों की। एक है सोफी और दूसरी विदा। सोफी और विदा, Indian Army के श्वान हैं, Dogs हैं और उन्हें Chief of Army Staff ‘Commendation Cards' से सम्मानित किया गया है। हमारी सेनाओं में, हमारे सुरक्षाबलों के पास, ऐसे, कितने ही बहादुर श्वान है Dogs हैं जो देश के लिये जीते हैं और देश के लिये अपना बलिदान भी देते हैं। कितने ही बम धमाकों को, कितनी ही आतंकी साजिशों को रोकने में ऐसे Dogs ने बहुत अहम भूमिका निभाई है। कुछ समय पहले मुझे देश की सुरक्षा में dogs की भूमिका के बारे में बहुत विस्तार से जानने को मिला। कुछ दिन पहले ही आपने शायद TV पर एक बड़ा भावुक करने वाला दृश्य देखा होगा, जिसमें, बीड पुलिस अपने साथी Dog रॉकी को पूरे सम्मान के साथ आख़िरी विदाई दे रही थी। रॉकी ने 300 से ज्यादा केसों को सुलझाने में पुलिस की मदद की थी। Dogs की Disaster Management और Rescue Missions में भी बहुत बड़ी भूमिका होती हैं। भारत में तो National Disaster Response Force – NDRF ने ऐसे दर्जनों Dogs को Specially Train किया है।'mann ki baat live updates pm modi address nation through radio programme coronavirus unlock examsPM मोदी ने आगे कहा, 'कहीं भूकंप आने पर, ईमारत गिरने पर, मलबे में दबे जीवित लोगों को खोज निकालने में ये dogs बहुत expert होते हैं। साथियों, मुझे यह भी बताया गया कि Indian Breed के Dogs भी बहुत अच्छे होते हैं, बहुत सक्षम होते हैं। Indian Breeds में मुधोल हाउंड हैं, हिमाचली हाउंड है, ये बहुत ही अच्छी नस्लें हैं। राजापलायम, कन्नी, चिप्पीपराई, और कोम्बाई भी बहुत शानदार Indian breeds हैं। पिछले कुछ समय में सेना, NSG और CISF ने मुधोल हाउंड dogs को trained करके dog squad में शामिल किया है, CRPF ने कोम्बाई dogs को शामिल किया है। Indian Council of Agriculture Research भी भारतीय नस्ल के Dogs पर research कर रही है। मकसद यही है कि Indian breeds को और बेहतर बनाया जा सके, और, उपयोगी बनाया जा सके।'PM मोदी ने आगे कहा, 'अगली बार, जब भी आप, dog पालने की सोचें, आप जरुर इनमें से ही किसी Indian breed के dog को घर लाएँ। आत्मनिर्भर भारत, जब जन-मन का मन्त्र बन ही रहा है, तो कोई भी क्षेत्र इससे पीछे कैसे छूट सकता है। मेरे प्रिय देशवासियों, कुछ दिनों बाद, पांच सितम्बर को हम शिक्षक दिवस मनायेगें। हम सब जब अपने जीवन की सफलताओं को अपनी जीवन यात्रा को देखते है तो हमें अपने किसी न किसी शिक्षक की याद अवश्य आती है। तेज़ी से बदलते हुए समय और कोरोना के संकट काल में हमारे शिक्षकों के सामने भी समय के साथ बदलाव की एक चुनौती लगती है। मुझे ख़ुशी है कि हमारे शिक्षकों ने इस चुनौती को न केवल स्वीकार किया, बल्कि, उसे अवसर में बदल भी दिया है। आज, देश में, हर जगह कुछ न कुछ innovation हो रहे हैं। शिक्षक और छात्र मिलकर कुछ नया कर रहे हैं। मुझे भरोसा है जिस तरह देश में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के जरिये एक बड़ा बदलाव होने जा रहा है, हमारे शिक्षक इसका भी लाभ छात्रों तक पहुचाने में अहम भूमिका निभायें खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

कंगना रनौत पायलट का किरदार निभायेंगी ,**************** रविवार 30 अगस्त 2020 | मुंबई (मानवी मीडिया) : बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत सिल्वर स्क्रीन पर पायलट का किरदार निभाती नजर आयेंगी।कंगना रनौत अपनी आने वाली फिल्म ‘तेजस’ में पायलट का किरदार निभाने जा रही हैं। कंगना ने इस खुशखबरी को खुद फैंस के साथ साझा करते हुए ट्वीट कर लिखा, “इस दिसंबर को टेक-ऑफ करने के लिए तेजस तैयार है। इस साहसी कहानी का हिस्सा बनने के लिए गर्व महसूस कर रही हूं। ये हमारे बहादुर एयरफोर्स पायलटों के लिए एक बड़ी बात है। जय हिंद।” गौरतलब है कि फिल्म ‘तेजस’ का निर्देशन सर्वेश मेवाड़ा कर रहे हैं। जाने माने निर्मातारॉनी स्क्रूवाला इसे प्रोड्यूस कर रहे हैं। फिल्म की शूटिंग जुलाई से शुरू होने वाली थी, लेकिन कोरोना की वजह से शायद फिल्म को अभी टाला गया है।अब दिसंबर में फिल्म की शूटिंग पर काम शुरू किया जाएगा। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

मध्य प्रदेश के 411 गांवों में बाढ़ ने मचाई तबाही, हेलीकॉप्टर से लोगों को किया एयरलिफ्ट- CM शिवराज ,********************** रविवार 30 अगस्त 2020 | भोपाल (मानवी मीडिया) : मध्यप्रदेश में बाढ़ के कारण स्थिति खबाब होती दिख रही है। राज्य के 9 जिलों के 411 गांवों में बाढ़ ने तबाही मचा कर रही हुई है। वहीं अब तक 7000 से ज्यादा लोगों को बचाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। प्रदेश में बाढ़ की वजह से खराब हो रही स्थिति के बारे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी से बात की। उन्होंने प्रधानमंत्री को राज्य में बाढ़ के हालातों के बारे में बताया। इसके अलावा चौहान ने कहा, छिंदवाड़ा में बाढ़ में फंसे 5 लोगों को हेलीकॉप्टर से एयरलिफ्ट किया गया है। वायुसेना के दो हलीकॉप्टर होशंगाबाद, सीहोर और रायसेन के लिए आने वाले थे पर खराब मौसम के कारण उनको रास्ते से ही बाहर लौटना पड़ा है। एक झांसी और एक नागपुर गया है। हमने और अतिरिक्त हेलीकॉप्टर वायुसेना से मांगे हैं। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें पूरी तरह से लगी हुई हैं।' राज्य में पिछले दो दिन से जारी मूसलाधार बारिश के कारण होशंगाबाद सहित मध्यप्रदेश के कई जिलों में बाढ़ आ गई है। प्रदेश में स्थिति इतनी विकराल हो गई है कि जलमग्न क्षेत्रों से लोगों को बचाने के लिए शनिवार को सेना और एनडीआरएफ को उतारा गया। होशंगाबाद में लगभग 3,500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है जबकि छिंदवाड़ा में वायुसेना के एक हेलीकाप्टर से बाढ़ में फंसे पांच लोगों को सुरक्षित निकला गया है। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के सीहोर और छिंदवाड़ा सहित सात से अधिक जिलों में भारी बारिश के कारण तालाब और नदी, नाले उफान पर हैं।अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को लगभग डेढ़ घंटे तक नर्मदा नदी के तट पर बसे होशंगाबाद तथा सीहोर जिलों के बाढ़ ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी ने बताया कि छिंदवाड़ा जिले में एक जलमग्न जगह से पांच लोगों को वायुसेना के हेलिकॉप्टर से बचाया गया।एक और आदमी जो बाढ़ से बचने के लिए एक पेड़ पर चढ़ गया, वह अभी भी वहां है, उसे बचाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि छिंदवाड़ा के चौरई क्षेत्र में पानी में फंसे एक व्यक्ति मधु कहार को बाहर निकाला गया है। वहां नौकाएं और अन्य बचाव उपकरण मौजूद हैं।रस्तोगी ने बताया कि सीहोर जिले में बचाव कार्यों में सहायता के लिए वायुसेना के दो हेलीकाप्टर और आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि 70 जवानों वाली सेना की दो टुकड़ियां सहायता के लिए आ रही हैं। इनमें से एक टुकड़ी रात तक होशंगाबाद जिले में पहुंच जाएगी जबकि एक टुकड़ी को रायसेन जिले के बाढ़ग्रस्त इलाकों में सहायता के लिए उपयोग किया जाएगा।उन्होंने बताया कि हरदा जिले में भी कई स्थानों पर नर्मदा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। रस्तोगी ने बताया कि पिछले 12 से 15 घंटे में 9 जिलों के 394 गांवों के 6500 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव राजेश राजोरा ने बताया कि बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए सरकारी तंत्र कड़ी मेहनत कर रहा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि होशंगाबाद में पिछले 24 घंटों में शनिवार सुबह 8.30 बजे तक 208 मिमी बारिश दर्ज की गई। इसी अवधि में होशंगाबाद जिले में प्रसिद्ध पर्वतीय स्थल पचमढ़ी और छिंदवाड़ा में क्रमश: 228 मिमी और 142 मिमी बारिश दर्ज की गई है।विशेषकर होशंगाबाद और सीहोर जिलों में बाढ़ के कारण कई लोग अलग-अलग स्थानों पर फंसे हुए हैं। होशंगाबाद के संभागायुक्त रजनीश श्रीवास्तव ने फोन पर बताया कि जिला प्रशासन ने बाढ़ की स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए सेना से मदद मांगी है और उनक जल्दी पहुंचने की उम्मीद है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

Twitter लिया बड़ा फैसला, कॉपी - पेस्ट ट्वीट पर लगाएगा रोक , ************************* रविवार 30 अगस्त 2020 | नई दिल्ली (मानवी मीडिया): माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने अपने आधिकारिक अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर करते हुए बताया है कि पिछले कुछ सालों में उसके प्लेटफॉर्म पर कॉपी-पेस्ट ‘ कॉपी पेस्ट’ वाले ट्वीट की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। एक ही ट्वीट को कई लोग कॉपी करके ट्वीट कर रहे हैं। ऐसे में हमने ऐसे ट्वीट की विजिबलिटी को कम करने का फैसला किया है। ट्विटर ने अपनी नई पॉलिसी में कॉपी पेस्ट ट्वीट को भी शामिल किया है। दरअसर, कंपनी ने ऐसे ट्वीट को छिपाने का फैसला लिया है जो कि कॉपी-पेस्ट होगा यानी यदि आप किसी के ट्वीट को कॉपी करके पेस्ट कर रहे हैं या फिर एक ही ट्वीट को कई लोग ट्वीट कर रहे हैं तो ऐसे ट्वीट लोगों की टाइमलाइन से हाइड कर दिए जाएंगे। बता दें कि ऑनलाइन दुनिया में डुप्लिटकेट कंटेंट के लिए कॉपी पेस्ट का इस्तेमाल किया जाता है।Twitter ने इसे लेकर मोबाइल एप में एक फीचर भी जारी किया है जहां से आप अपने ट्वीट को कॉपी करने का विकल्प बंद कर सकते हैं। वहीं कंपनी ने हाल ही में ‘फीचर भी जारी किया है।बता दें, कॉपी पेस्ट ट्वीट का इस्तेमाल सबसे ज्यादा स्पैमिंग और किसी कैंपेन के लिए होता है। अक्सर आपने देखा होगा कि हजारों अकाउंट से एक ही जैसे ट्वीट किए जाते हैं। ये सब ट्रेंडिंग और किसी खास व्यक्ति या संस्था को निशाने पर लेने के लिए होता है। इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल राजनीतिक प्रोपेगैंडा फैलाने के लिए होता है। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

सुरक्षाबलों की पेट्रोलिंग टीम पर आतंकियों का हमला, मुठभेड़ में 3 का सफाया- एक ASI शहीद, ********************** रविवार 30 अगस्त 2020 | श्रीनगर (मानवी मीडिया) : जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर स्थित पंथा चौक में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गई। सुरक्षाबलों ने इस मुठभेड़ में तीन आतंकी को मार गिराया, जबकि क्रॉस फायरिंग में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एएसआई बाबू राम शहीद हुए हैं। वह पुंछ के रहने थे। अभी भी इलाके में कुछ आतंकियों के छुपे होने की खबर है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर रखा है और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।प्रतीकात्मक तस्वीर इससे पहले पुलवामा में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया था। पुलवामा जिले के जादूरा गांव में आतंकियों की मौजदूगी की सूचना पर सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को आधी रात के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान घेरा सख्त होता देख आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई से मुठभेड़ शुरू हो गई। पूरी रात सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरे रखा ताकि अंधेरे का फायदा उठाकर आतंकी भाग न निकले।नौ घंटे से अधिक चली मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराने में सफलता हाथ लगी। ऑपरेशन के दौरान सेना के जवान उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के खानजापुर गांव के प्रशांत शर्मा गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्होंने दम तोड़ दिया। .उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के पट्टन के गोशबुग इलाके में शनिवार रात सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान चलाया। इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर सेना, सीआरपीएफ एवं पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया। घर-घर तलाशी ली गई। इस दौरान सभी प्रवेश व निकास के रास्ते सील कर दिए गए थे। हालांकि, देर रात तक आतंकियों का कोई सुराग हाथ नहीं लग सका था। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image

तलाश नौकरी की, ************************ रविवार 30 अगस्त 2020 |लखनऊ (मानवी मीडिया) संपादकीय ::**********************कोविड-19 के कारण विश्वभर की अर्थव्यवस्था पर कुप्रभाव ही पड़ा है। भारत जैसे देश में कोरोना की मार के कारण जहां अर्थव्यवस्था लडख़ड़ा गई वहीं मंदी का दौर शुरू है, बेरोजगारी भी बढ़ रही है। सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में अपना भविष्य ढूंढते नये युवा चिंता में हैं। सरकारी नौकरियां तो पहले ही कम थी अब निजी क्षेत्र में भी युवाओं को अपना भविष्य धूमिल दिखाई दे रहा है। सरकार युवाओं को नौकरी ढूंढने की बजाए अपना धंधा शुरू करने के लिए प्रयासरत है और युवाओं को काम के लिए ऋण देने के लिए बैंकों व अन्य वित्तीय संगठनों को कह भी रही है।एक रिपोर्ट के अनुसार कोरोना के कारण जहां पहले से ही मंदी और बेरोजगारी का दौर चल रहा है ऐसे में जो नये युवा जिनकी अगले दशक में 9 करोड़ की संख्या होगी नौकरी की तलाश करेंगे। ‘इंडियाज टर्निंग प्वाइंट- एन इकोनॉमिक एजेंडा टु स्पर ग्रोथ ऐंड जॉब’ नाम से जारी रिपोर्ट में एमजीआई ने चेतावनी दी है कि अगर इसके लिए जरूरी प्रमुख सुधार नहीं किए गए तो इससे आर्थिक अस्थिरता आ सकती है। एमजीआई के अनुमान के मुताबिक मौजूदा जनसांख्यिकी से संकेत मिलते हैं कि कार्यबल में 6 करोड़ नए कामगार प्रवेश करेंगे और कृषि के काम से 3 करोड़ अतिरिक्त कामगार ज्यादा उत्पादक गैर कृृषि क्षेत्र में उतर सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड के बाद 2029-30 तक हर साल 1.2 करोड़ गैर कृषि नौकरियों की सालाना जरूरत होगी। यह 2012 और 2018 के बीच हर साल महज 40 लाख नौकरियों के सृजन की तुलना में बहुत ज्यादा है। वृद्धि के तेज रफ्तार पर अर्थव्यवस्था को ले जाने के लिए एमजीआई ने 3 थीम का सुझाव दिया है-वैश्विक केंद्र की स्थापना, जो भारत और दुनिया में काम करे और विनिर्माण व कृषि निर्यात व डिजिटल सेवाओं पर इसका जोर हो। दूसरा- प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना, जिसमें अगली पीढ़ी के वित्तीय उत्पाद और उच्च कौशल के लॉजिस्टिक्स व पॉवर शामिल हैं और तीसरा रहने व काम करने की नई राह, जिसमें शेयरिंग इकोनॉमी और मॉर्डन रिटेल शामिल हैं। इन तीन व्यापक थीम के भीतर एमजीआई ने 43 कारोबार की संभावनाएं देखी हैं इससे 2030 तक 2.5 लाख करोड़ डॉलर के आर्थिक मूल्य का सृजन किया जा सकता है और 2030 तक करीब 30 प्रतिशत गैर कृषि कार्यबल को समर्थन दिया जा सकता है।इसके तहत विनिर्माण क्षेत्र बढ़े सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 2030 तक पांचवें हिस्से का योगदान कर सकता है, जबकि निर्माण क्षेत्र की गैर कृषि नौकरियों में 4 में से एक नौकरी की हिस्सेदारी कर सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि श्रम एवं ज्ञान आधारित सेवा क्षेत्र को भी पहले की तरह मजबूत वृद्धि दर बनाए रखने की जरूरत होगी। विनिर्माण के बारे में एमजीआई ने विभिन्न सुधारों की बात की है, जिसमें स्थिर व घटता शुल्क शामिल है। अवसरों के लाभ उठाने के मोर्चे पर भारत को बड़ी फर्मों की संख्या बढ़ाकर तीन गुना करने की जरूरत है, जिनमें 1000 से ज्यादा मझोले आकार की और 10,000 छोटी बड़ी कंपनियां हों। भारत में करीब 600 बड़ी फर्में हैं, जिनका राजस्व 50 करोड़ डॉलर से ज्यादा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ये औसत से 11 गुना ज्यादा उत्पादक हैं और कुल निर्यात में इनकी हिस्सेदारी 40 प्रतिशत से ज्यादा है।मैकिंसी ग्लोबल इंस्टीच्यूट द्वारा जारी उपरोक्त रिपोर्ट को देखते हुए कहा जा सकता है कि आगामी 10 वर्ष भारत तथा भारत के युवाओं के लिए काफी चुनौतीपूर्ण हंै। सरकार को अभी से नये युवाओं की नौकरियों को लेकर एमजीआई द्वारा दिए सुझावों को गंभीरता से लेकर नौकरियां बढ़ाने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए ताकि नौकरियों की तलाश में निकले नये युवाओं के हाथ निराशा न लगे। खबरों को देखने के लिए👇👇👇👇

Image